featured यूपी

प्रियंका गांधी- 14 दिन में गन्ना बकाये का भुगतान भी एक जुमला, सरकार पर बड़ा हमला

प्रियंका गांधी- 14 दिन गन्ना भुगतान भी एक जुमला, सरकार पर बड़ा हमला

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी ने गन्ना किसानों की आवाज उठाई। उन्होंने कहा कि 14 दिन में फसल का भुगतान सिर्फ जुमला निकला।

सारे वादे सिर्फ जुमलेबाजी

प्रियंका लगातार योगी सरकार और केंद्र पर हमले कर रही हैं। किसानों की आवाज़ बुलंद करके कांग्रेस अपनी राजनीतिक जमीन मजबूत करने की कोशिश में हैं। किसान महापंचायत से लेकर ट्वीटर तक किसानों की ही बात करने वाली प्रियंका गांधी ने इस बार गन्ना किसानों की बात रखी।

14 दिन में था भुगतान का वादा

प्रियंका ने कहा कि बीजेपी ने 14 दिन के भीतर गन्ने की बकाया राशि को अदा करने की बात कही थी। लेकिन यह भी एक जुमलाबाजी ही साबित हुई। न किसानों को अपनी फसल का दाम मिला और न ही उनकी आय दोगुनी हुई।

लखीमपुर खीरी के किसान का उदाहरण देते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि यूपी के लाखों किसान इस समस्या को झेल रहे हैं, प्रदेश के किसानों का 10,000 करोड़ सरकार को अदा करना है।

19 को मथुरा जायेंगी प्रियंका

किसान कानून के विरोध की आवाज को और बुलंद करने 19 फरवरी को प्रियंका गांधी मथुरा में होंगी। यह आयोजन सोंख रोड पर होगा, पाली खेड़ा में जनसभा को संबोधित करने की योजना है। किसानों के समर्थन में वह लगातार कई दिनों से आवाज उठा रहीं हैं।

यह भी पढ़ें: सौभाग्य योजना में सामने आई बड़ी गड़बड़ी, बिना तार दे दिया कनेक्शन

इसके पहले वह बिजनौर और सहारनपुर में भी महापंचायत का हिस्सा बनीं थीं। जहां प्रधानमंत्री मोदी और किसान कानून उनके निशाने पर रहे। जबकि दूसरी तरफ बीजेपी इसे राजनीतिक स्टंट कह रही है। मथुरा जनसभा की तैयारियों का जायजा लेने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भी मथुरा गये।

कांग्रेस पार्टी इसी किसान आंदोलन की गर्मी को आने वाले विधानसभा चुनाव का मुद्दा बनाने की तैयारी में है। उत्तर प्रदेश में अन्य विपक्षी दलों की सुस्त चाल का फायदा उठाने की रणनीति कितना कमाल करती है, देखना दिलचस्प होगा।

Related posts

कोरोना वैक्‍सीनेशन में UP नंबर वन, अब तक इतने लोगों को लगा टीका

Shailendra Singh

शामली में बुजुर्ग की गोली मारकर हत्या, इलाके में सनसनी

kumari ashu

औवेसी ने पीएम मोदी और अमित शाह को हैदराबाद से चुनाव लड़ने की दी चुनौती

Rani Naqvi