नेपाल में फिर बजा चुनावी बिगुल, मार्च में होगा राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति का चुनाव

काठमांडू। नेपाल में हाल ही में हुए आम चुनाव के बाद अब राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए बिगुल बज चुका है। नेपाल में दोनों चुनावों के लिए अगले महीने मार्च में मतदान होगा। राजनीतिक दलों के साथ एक सप्ताह तक बैठक करने के बाद नेपाल के चुनाव आयोग ने चुनाव कराने का ऐलान कर दिया है। नेपाल चुनाव आयोग के प्रवक्ता नबराज ढकाल ने अपने एक बयान में कहा कि मुख्य चुनाव आयुक्ता डॉ. अयोधी प्रसाद यादव की अध्यक्षता में चुनाव आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक हुई और 13 मार्च को राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति का चुनाव कराने के लिए निर्धारित किया गया है।चुनाव आयोग ने 7 मार्च को नामांकन दाखिल करने के लिए मुकर्रर किया है और नए राज्य प्रमुख या संघीय नेपाल के पहले राष्ट्रपति के लिए मतदान 10 बजे से शुरू होकर शाम चार बजे तक चलेगा।

बता दें कि कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल के भारी बहुमत से जीत दर्ज करने के बाद उसके अध्यक्ष केपी ओली वहां के राष्ट्रपति बन गए हैं, जिसके बाद उन्ही के कहने पर चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति का चुनाव कराने का ऐलान किया है। चुनाव आयोग के मुख्य निर्वाचन आयुक्त डॉ. अयोधी प्रसाद यादव की अध्यक्षता में हुई बैठक में मार्च के मध्य में होने वाले राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव पर चर्चा हुई। नेपाल के चुनाव आयोग ने कहा कि राजनीतिकों ने प्रस्ताव के बारे में सकारात्मक जवाब दिया है। चुनाव आयोग ने नेपाल के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए 5 मार्च और 17 मार्च की तारीख तय की है।

 

 

 

गौरतलब है कि नेपाल के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के कार्यकाल के खत्म होने से एक महीने पहले चुनाव कराने का प्रावधान है। इसके बाद नेपाल के चुनाव आयोग को इसकी जानकारी नेपाल की सरकार को देनी होगी। बता दें कि वर्ष 2008 में नेपाल गणराज्य बना था, उससे पहले वहां राजशाही शासन था। डॉ.राम बरन यादव नेपाल के पहले राष्ट्रपति नियुक्ति हुए थे, जबकि बिद्या देवी भंडारी देश की दूसरी राष्ट्रपति और देश के लोकतांत्रिक इतिहास में पहली महिला राष्ट्रपति हैं।