September 29, 2022 1:59 am
धर्म

आज का पंचांगः गुरुवार को करें भगवान बृहस्पति की पूजा, जानें इसका महत्व और शुभ मुहूर्त

Aaj Ka Panchang

आज 2 सितंबर है यानि गुरुवार है। हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार गुरुवार को भगवान बृहस्पति की पूजा करने का विधान है। उनकी पूजा करने से परिवार में सुख-शांति रहती है।

वर्जिनिटी के लिए क्यों सर्जरी करवा रही लड़कियां, Hymenoplasty भारत का सबसे खतरनाक ट्रेंड?  

 

पूजा करने से मिलता है लाभ

सप्ताह का चौथा दिन यानि गुरुवार ? को भगवान ब्रह्मा और बृहस्पति का दिन माना गया है। इस दिन व्रत रखने पर शारीरिक कष्ट दूर होने के साथ ही मानसिक शांति का भी अनुभव होता है।

इन लोगों को करना चाहिए व्रत

आपकी कुंडली में अगर 6वें, 8वें या फिर 10वें भाग में गुरु है तो गुरुवार का व्रत रखना चाहिए। अगर किसी की कुंडली में गुरु अपने शत्रु ग्रह में बैठा हुआ है तो ऐसे लोगों को भी गुरुवार का व्रत करना चाहिए। गुरु के शुक्र और बुध ग्रह शत्रु हैं, वहीं शनि और राहु इसके सम ग्रह माने जाते हैं।

अपनाएं ये उपाय

आज के दिन सफेद चंदन, हल्दी या फिर गोरोचन का तिलक लगाना चाहिए। किसी भी बुरी आदत को छोड़ने के लिए यह दिन अति उत्तम माना जाता है। मान्यता है कि ये दिन देवी-देवताओं और उनके गुरु बृहस्पति का दिन है । इस दिन पापों का प्रायश्चित करने से पाप नष्ट होते हैं। इस दिन घर में धूप देने से गृह क्लेश, अनिद्रा और तनाव में लाभ मिलता है।

 

 आज का पंचांग

आज की तिथि – भाद्रपद कृष्णपक्ष दशमी
आज का नक्षत्र – आर्द्रा
आज का करण – वणिजा विष्टि
आज का पक्ष – कृष्ण
आज का योग – सिद्धि
आज का वार – गुरुवार

 

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 5:40:00 सुबह
सूर्यास्त – 06:19:00 शाम
चन्द्रोदय – 24:18:00
चन्द्रास्त – 13:52:00
चन्द्र राशि – मिथुन

 

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत- 1943 प्लव
विक्रम सम्वत- 2078
काली सम्वत- 5122
प्रविष्टा / गत्ते- 17
मास अमांत- श्रावण
मास पूर्णिमांत- भाद्रपद
दिन काल- 12:42:49
शुभ समय – 11:55:47 से 12:46:51 तक

अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त- 10:13:33 से 11:04:24 तक, 15:18:40 से 16:09:32 तक
कुलिक- 10:13:33 से 11:04:24 तक
कंटक- 15:18:40 से 16:09:32 तक
कालवेला / अर्द्धयाम-17:00:23 से 17:51:14 तक
यमघण्ट- 06:50:08 से 07:40:59 तक
यमगण्ड- 05:59:16 से 07:34:38 तक
यमगण्ड – 05:40 से 07:15 तक
गुलिक काल – 08:50 से 10:25 तक

Related posts

सावन शुरू होने से पहले जानें भगवान शिव के सबसे प्राचीन मंदिर के अनोखे रहस्य..

Mamta Gautam

Aaj Ka Panchang: पंचांग 22 अप्रैल 2022, जानें आज का शुभ मुहूर्त, राहु काल और ग्रह-नक्षत्र की चाल

Rahul

आज है आषाढ़ पूर्णिमा का व्रत, यहां जानिए चंद्रोदय का समय, पूजा की विधि और शुभ मुहूर्त

Rahul