वारदात
बस को किया अगवा

उत्तर प्रदेश के आगरा में कुछ अज्ञात लोगों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। अज्ञात लोगों ने एक प्राइवेट बस को अगवा कर लिया है और ड्राइवर और कंडक्टर को बंधक बना लिया है। प्राइवेट बस में 34 लोग सवार थे। जिन्हे झांसी में उतार दिया गया है।

देर रात को हुई थी घटना

बता दें की घटना मलपुरा थाना क्षेत्र के की है। मालपुरा थाना क्षेत्र के दक्षिणी बाईपास पर देर रात को घाटी है। जानकारी के मुताबिक बस गुरुग्राम से पन्ना (मध्यप्रदेश) के लिए जा रही थी तभी प्राइवेट बस को कुछ अज्ञात लोगों ने आगरा के पास रोककर ड्राइवर और कंडक्टर को उतार लिया। दोनों को निजी गाड़ी में बैठाकर ले गए और और दूसरे ड्राइवर के जरिए उस बस को आगे लेकर चले गए।

यात्रियों को पहुंचने का किया इंतजाम

करीब 2 घंटे तक ड्राइवर और कंडक्टर को इधर-उधर घुमाया और बाद में उन्हें एक ढाबे पर छोड़ दिया। वहीं यात्रियों को दूसरे बस से झांसी भिजवाया गया। फिलहाल झांसी से यात्रियों को उन्हें स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। इसके साथ ही बस को अगवा करने वालों लोगों और बस की तलाश जारी है।

बस की नहीं चुकाई किश्त

पुलिस की छानबीन के बाद मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि बस की किश्त नहीं चुकाने पर फाइनेंस वाले बस और बस चालक और कंडक्टर ले गए। इसके साथ ही मामले को लेकर आगरा एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि रायगढ़ टोल क्रॉस करने के बाद दक्षिणी बाईपास के आगे बस को ओवरटेक किया गया। ओवरटेक करने वालों ने अपने आपको फाइनेंस कंपनी का बताया और कहा कि बस की किश्तें नहीं दी जा रही है। इन लोगों ने ड्राइवर और कंडक्टर को कार में बैठाया और ले गए।

कर्ज में थी ट्रेवल्स कंपनी- एसएसपी

साथ ही एसएसपी कहना है कि प्रथम दृष्टया बातचीत में पता चल रहा है कि ग्वालियर की ट्रेवल्स कंपनी काफी कर्ज में थी और किश्तें नहीं दी जा रही थी। बस में 34 यात्री सवार थे। मामला संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस टीम लगा दी गई है। मामलें को लेकर आसपास के जनपदों में एसपी से बात हो गई है।

सुशांत केस में सुप्रीम कोर्ट का आया फैसला, सीबीआई करेगी जांच

Previous article

श्रीनगर में तापमान ने तोड़ा रिकार्ड, तीस साल में सबसे अधिक

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in यूपी