प्रदेश के इन लोक कलाकारों को सरकार देगी पेंशन और एक करोड़ का स्वास्थ्य बीमा
सीएम योगी

लखनऊ: प्रदेश में एक बार फिर से प्रशासनिक फेरबदल करते हुए योगी सरकार ने चार आईपीएस अफसरों का तबादला कर दिया है।

सीबीसीआईडी के डीजी और एडीजी को पद से हटा दिया गया है, इस बार विश्वजीत महापात्रा को जहां नई तैनाती नहीं दी गई है, वहीं एसके माथुर को भी कोई नई भूमिका नहीं मिली है। सीबीसीआईडी के इन दोनों ही अधिकारियों को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।

पुलिस महकमे में हड़कंप

सरकार द्वारा सीबीसीआईडी के डीजी और एडीजी को अचानक हटाने से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। विश्वजीत महापात्रा और एसके माथुर को अचानक पद से हटाया गया है।

इसके अतिरिक्त पीवी रामाशास्त्री को जहां सीबीसीआईडी का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है, रामाशास्त्री अभी सतर्कता के पद पर हैं। इसके अतिरिक्त स्वर्णकार को एडीजी, सीबीसीआडी बनाया गया है।

लगातार हो रहे बड़े उलटफेर

बता दें कि अभी हाल ही में प्रदेश सरकार ने पंचायत चुनाव को देखते हुए बड़े स्तर पर पुलिस विभाग में उलटफेर किया था और अफसरों का ट्रांसफर करके उन्हें अलग अलग जगहों पर भेजा था।

इसके अलावा कानपुर और वाराणसी में कमिश्नरेट प्रणाली लागू होने के बाद भी अभी हाल में आईपीएस अधिकारियों का फेरबदल किया गया था।

कानून व्यवस्था पर सख्त है सरकार

गौरतलब है कि योगी सरकार प्रदेश की कानून व्यवस्था को और सुदृढ़ करने का काम कर रही है। जो भी अफसर लापरवाही कर रहा है, उसे सरकार या तो निलंबित कर दे रही है या उसका ट्रांसफर कर रही है।

योगी सरकार कानून व्यवस्था के मामले में जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही है। और कानून व्यवस्था को लेकर सरकार किसी को भी बख्शने के मूड में नहीं है।

बेकाबू हुआ कोरोना, 195 दिन बाद 89 हजार से ज्यादा केस, 714 लोगों की गई जान

Previous article

बंगाल चुनाव पर जेपी नड्डा की दो टूक, ममता तलाश रहीं दूसरी सीट, TMC के लोगों ने बताया

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured