featured उत्तराखंड

अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

Screenshot 1729 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

भारत की बैडमिंटन टीम ने 73 साल बाद थॉमस कप जीतकर इतिहास रच दिया है।

यह भी पढ़े

आप भी भीषण गर्मी से पाना चाहते हैं राहत तो करें ये आसान से आसन , मिलेगा फायदा

Screenshot 1727 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

टीम को कप दिलाने में उत्तराखंड अल्मोड़ा के लक्ष्य सेन का अहम योगदान रहा है। थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य के अल्मोड़ा स्थित घर समेत पूरे जिले में जश्न का माहौल है। आज अल्मोड़ा स्थित उनके घर में उनकी बुआ गीता पंत, उत्तराखंड बैडमिंटन ऐसोसिएशन के महासचिव बीएस मनकोटी समेत अन्य रिश्तेदारों ने खुशी मनाते हुए एक दूसरे मिठाई खिलाई।

Screenshot 1728 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

इस दौरान लक्ष्य सेन की बुआ गीता पंत ने बताया कि लक्ष्य की इस उपलब्धि पर उन्हें काफी गर्व है। लक्ष्य ने बचपन से ही बैटमिंटन के लिए जो मेहनत की वह मेहनत आज सार्थक हो रही है। आज उन्होंने अल्मोड़ा के साथ पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है।

Screenshot 1729 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

इस दौरान उत्तरांचल बैडमिंटन एसोसिएशन के महासचिव बी एस मनकोटी ने बताया कि भारत ने 70 सालो में पहली बार थॉमस कप जीतकर इतिहास बनाया है। इस जीत में अल्मोड़ा के लक्ष्य सेन का अहम योगदान है।

Screenshot 1730 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

लक्ष्य सेन ने पूरे प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है। लक्ष्य सेन बहुत जल्द अल्मोड़ा आने वाले हैं। उनके अल्मोड़ा में भव्य स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं।

Screenshot 1731 अल्मोड़ा: थॉमस कप जीतने के बाद लक्ष्य सेन के घर खुशी का माहौल, मिठाई बांटकर मनाई खुशी

Related posts

स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई चानू अगले साल करेगी एशियाई चैंपियनशिप में वापसी

mahesh yadav

जब दिल्ली हवाई अड्डे पर शख्स बोला मैं हूं ‘ISI एजेंट, भारत में रहना चाहता हूं’

Nitin Gupta

राजस्थान हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा सवाल, कॉन्डम की ऐड पर सुबह के समय प्रतिबंध क्यो?

Breaking News