featured क्राइम अलर्ट

STF ने अपराधी हरीश पासवान को मुठभेड़ में किया ढेर, एक लाख का था इनाम

1630655259 STF ने अपराधी हरीश पासवान को मुठभेड़ में किया ढेर, एक लाख का था इनाम

यूपी के बलिया में STF ने 1 लाख के इनामी बदमाश हरीश पासवान को मुठभेड़ में मार गिराया है। हरीश 7 जुलाई को हुई पूर्व जिला पंचायत सदस्‍य जलेश्‍वर सिंह की हत्‍या सहित कई संगीन मामलों में आरोपी था। पुलिस को काफी समय से उसकी तलाश थी। मूल तौर बलिया के हल्दी थाना क्षेत्र के बाबूबेल निवासी हरीश पासवान लम्बे वक्त से अपराध की दुनिया में सक्रिय था। पुलिस के अनुसार, हरीश पासवान अंतर-राज्यीय बदमाश था। उसके खिलाफ बलिया के अलावा झारखंड और छत्तीसगढ़ में भी कई मुकदमे दर्ज थे। कुल मिलाकर 35 मुकदमे दर्ज थे, इनमें से कम से कम 6 मुकदमे हत्‍या के थे। 

IMG 20210903 WA0016 STF ने अपराधी हरीश पासवान को मुठभेड़ में किया ढेर, एक लाख का था इनाम

ऐसा बताया जा रहा है कि हरीश के खिलाफ पहला मुकदमा 2004 में दर्ज किया गया था। वह मुकदमा लूट का था। आरोप है कि 7 जुलाई को हरीश ने अपने साथियों के साथ मिलकर नगर पंचायत बैरिया पश्चिम टोला के रहने वाले जलेश्वर सिंह उर्फ बलवीर सिंह की हत्या कर दी थी। हरीश तभी से फरार चल रहा था।

IMG 20210903 WA0018 STF ने अपराधी हरीश पासवान को मुठभेड़ में किया ढेर, एक लाख का था इनाम

कल रात ही इनाम घोषित हुआ था

अपराधी हरीश पासवान के खिलाफ कल रात में ही 1 लाख रुपए के इनाम का ऐलान हुआ था। पहले उस पर 50 हजार रुपए का इनाम था जिसे बढ़ाकर वाराणसी के ADG ने 1 लाख रुपए कर दिया था। शुक्रवार को बलिया के रसड़ा थाना क्षेत्र के नीबूचट्‌टी मोड़ पर लखनऊ की STF ने मुठभेड़ में उसे मार गिराने का दावा किया। 

IMG 20210903 WA0014 STF ने अपराधी हरीश पासवान को मुठभेड़ में किया ढेर, एक लाख का था इनाम

ऐसे हुई मुठभेड़

अपराधी हरीश पासवान की खोज में पुलिस और STF जुलाई महीने में पूर्व जिला पंचायत सदस्‍य की हत्‍या के बाद से ही लगी हुई थी। पुलिस को शुक्रवार को हरीश के रसड़ा क्षेत्र में मौजूद होने की सूचना मिली तो STF की टीम ने उसकी घेरेबंदी की। STF की टीम के अनुसार खुद को घिरता देख हरीश ने उन पर फायर करना शुरू कर दिया। जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया। 

Related posts

कांग्रेस ने पीएम पर फिर बोला हमला, कहा जब देश रो रहा था पीएम करा रहे थे फोटोशूट

bharatkhabar

सेना पर दिए विवादित बयान मामले में आजम खां की मुश्किलें बढ़ीं

piyush shukla

नोटबंदी पर जबाब देने के लिए मोदी को बुला सकती है लेखा समिति

Rahul srivastava