September 18, 2021 9:16 am
featured यूपी

फतेहपुर में खुद फंसे दूसरों का चालान करने वाले पुलिसकर्मी, हुआ ये

Fatehpur 9 1 फतेहपुर में खुद फंसे दूसरों का चालान करने वाले पुलिसकर्मी, हुआ ये

फतेहपुर: खाकी वर्दी पहनकर चौराहों पर बिना हेलमेट-सीट बेल्ट के वाहन चालकों का चालान करने वाले पुलिसकर्मियों के लिए शनिवार का दिन किसी ब्लैक सैटरडे से कम नहीं रहा। दरअसल, पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह की जांच में यही पुलिसकर्मी बिना हेलमेट और सीट बेल्ट के मिले। फिर क्या था कप्तान ने चालान भी किया और फटकार भी लगाई। मुंह लटकाए पुलिसकर्मी अपनी मूर्खता पर जहां पछता रहे थे तो वहीं पुलिस अधीक्षक एक के बाद एक चालान करते जा रहे थे।

पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह का काफिला अचानक आबू नगर पुलिस चौकी जा पहुंचा। पुलिस का भारी भरकम तामझाम देखकर मौके पर न केवल हड़कंप मच गया बल्कि आसपास के लोग भी कौतूहल से देखने लगे। स्थानीय लोग और आबू नगर चौकी इंचार्ज जब तक माजरा समझ पाते कि पुलिस अधीक्षक ने सदर अस्पताल की ओर से बिना हेलमेट लगाए आ रहे चौकी इंचार्ज मुराईंटोला प्रह्लाद यादव को रोक लिया गया। कप्तान को देखकर चौकी इंचार्ज पसीने से तरबतर हो गए। यातायात पुलिस ने तत्काल उप निरीक्षक का फोटो चालान कर दिया।

फतेहपुर में खुद फंसे दूसरों का चालान करने वाले पुलिसकर्मी, हुआ ये

 

यातायात पुलिस ने किया चालान

यह अभी हुआ भी नहीं था कि नगर पालिका कार्यालय के पास आए दिन वाहनों का चालान करने वाले चौकी प्रभारी सदर बिना हेलमेट के चले आ रहे थे। पुलिसिया तामझाम को देखकर वह भी परेशान हो गए, लेकिन तब तक यातायात पुलिस ने उनका भी चालान कर दिया। देखते ही देखते पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने चौकी इंचार्ज बाकरगंज, कोबरा-2, कोबरा-3, कोबरा-04 का बिना हेलमेट में चालान किया। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ने ट्रैफिक नियमों का पालन न करने वाले दारोगाओं और कांस्टेबलों को सख्त चेतावनी दी। हालांकि, इस दौरान कोतवाली निरीक्षक सत्येंद्र सिंह अपनी कार में सीटबेल्ट और चौकी इंचार्ज जेल रोड के साथ कोबरा-01 हेलमेट लगाए पाए गए।

फतेहपुर में खुद फंसे दूसरों का चालान करने वाले पुलिसकर्मी, हुआ ये

Related posts

कानपुर: मामूली कहासुनी में युवक को कार के बोनट पर बैठाया, फिर तेज रफ्तार में दौड़ाई कार, देखें वीडियो

Shailendra Singh

बॉल टेम्परिंग मामले में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने कहा कैमरन बैनक्रॉफ्ट ने की थी गेंद से छेड़छाड़

Rani Naqvi

क्या होता है महाभियोग? क्या है इसकी प्रक्रिया और इससे पहले कब लाया गया?

rituraj