January 29, 2022 12:51 pm
Breaking News यूपी

अंबिका चौधरी को उमाशंकर सिंह ने कहा धोखेबाज, ये है पूरा मामला

collage अंबिका चौधरी को उमाशंकर सिंह ने कहा धोखेबाज, ये है पूरा मामला

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के बलिया के रसड़ा से विधायक उमाशंकर सिंह ने पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी पर धोखा देने का आरोप लगाया है। उमाशंकर सिंह ने कहा है कि अंबिका चौधरी धोखेबाज नेता हैं। उन्हें जनता माफ नहीं करेगी।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेताओं में शुमार रहे बलिया के अंबिका चौधरी ने 2017 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बसपा का दामन थाम लिया था। उनके कद को देखते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने फेफना विधानसभा सीट से टिकट भी दिया था लेकिन वे चुनाव हार गए थे। उसके बाद से वे लगातार बसपा के साथ बने रहे।

pic अंबिका चौधरी को उमाशंकर सिंह ने कहा धोखेबाज, ये है पूरा मामला

यूपी के पंचायत चुनाव में उनके बेटे आनंद चौधरी को बसपा ने टिकट दिया और वे चुनाव भी जीते। लेकिन, जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के ठीक पहले उनके बेटे को समाजवार्टी पार्टी ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। जिसके बाद अंबिका चौधरी ने भी बसपा से इस्तीफा दे दिया। हालांकि उन्होंने अभी तक यह नहीं बताया है कि किस पार्टी में शामिल होंगे लेकिन यह माना जा रहा है कि अंबिका चौधरी एक बार फिर सपा का दामन थाम लेंगे।

बसपा विधायक उमाशंकर सिंह ने बोला हमला

रसड़ा विधानसभा से बसपा के दिग्गज विधायक और विधानसभा में उप नेता उमाशंकर सिंह ने अंबिका चौधरी पर करारा हमला बोला है। उमाशंकर सिंह ने अंबिका चौधरी को धोखेबाज नेता बताया है। उन्होंने कहा कि अंबिका चौधरी ने अपनी पूरी जिंदगी समाजवादी पार्टी में गंवा दी लेकिन बसपा ने उनका सम्मान किया। 2017 में जब सपा ने अंबिका चौधरी को पार्टी से निकाला तो बसपा ने न सिर्फ उन्हें अपनाया बल्कि चुनाव भी लड़ाया। इतना ही नहीं उनके बेटे को बसपा ने जिला पंचायत का चुनाव भी जितवाया। उसके बाद दोनों ही बाप-बेटों ने नैतिकता को ताक पर रखते हुए बसपा के साथ दगाबाजी की।

laspa 5649114 835x547 m अंबिका चौधरी को उमाशंकर सिंह ने कहा धोखेबाज, ये है पूरा मामला

उमाशंकर सिंह ने कहा कि अंबिका चौधरी ने बसपा के साथ धोखेबाजी की है। बसपा के कार्यकर्ताओं ने दिन-रात एक कर उनके बेटे को जिला पंचायत चुनाव जीतने में मदद की है। लेकिन, ऐन वक्त पर अंबिका चौधरी और उनके बेटे आनंद चौधरी ने जो किया है वह किसी भी दगाबाजी से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि बसपा ने आनंद को बलिया से जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्याशी भी बनाया था। लेकिन, जिस पार्टी ने उनको बेआबरू किया था वे फिर से उनके साथ चले गए। जनता यह सब देख रही है। इसका कीमत उन्हें चुकानी होगी।

Related posts

कोरोना से हुई मौतों के मामले में दूसरे नंबर पर आया ब्राजील, जानें कौन है पहले स्थान पर

Aman Sharma

एमएलसी आशु मालिक ने फैजाबाद के एमएलए व मंत्री तेजनारायण पांडेय के खिलाफ गौतमपल्ली थाने में दी हमले की तहरीर

piyush shukla

उन्नाव गैंगरेप पर टूटी योगी की चुप्पी,अपराधी को बख्शा नहीं जाएगाा

lucknow bureua