September 29, 2021 4:36 am
featured यूपी

सीतापुरः पैर फिसलने से मासूम की तालाब में डूबने से मौत, 2 अन्य की भी गई जान

सीतापुरः पैर फिसलने से मासूम की तालाब में डूबने से मौत, 2 अन्य की भी गई जान

सीतापुरः बरसात का मौसम है, ऐसे में जगह-जगह स्थित तालाब और नदी नहरों में जल उफान पर है। इस बीच जिले में अलग-अलग इलाकों में डूबने से एक ब्चची और 2 लड़कों की मौत हो गई। पहली घटना रेउसा थाना क्षेत्र में हुई, जहां शौच के लिए गई बच्ची की तालाब में डूबने से मौत हो गई।

वहीं, दूसरी घटना सेवता की है, जहां तालाब में एक अज्ञात युवक का शव मिला है। तीसरी घटना विसवां थाना क्षेत्र की है, जहां भैंस को नहलाते समय नदी में डूबने से एक किशोर की मौत हो गई।

शौच के लिए गई थी मोनिका

दरअसल, रेउसा थाना के सरैया गांव के रहने वाले मुकेश गौतम की 8 साल की बेटी मोनिका तालाब के किनारे शौच के लिए गई थी, तभी उसका पैर फिसल गया और वह तालाब में जा गिरी। बचाव में दूर से ही मोनिका शोर मचाने लगी। आवाज सुनकर पास से गुजर रहे गांव के रहने वाले एक युवक ने तालाब में कूदकर मोनिका जान बचान का प्रयास किया लेकिन शिवा जब तक तालाब में कूदकर मोनिका के पास पहुंचा, उसने दम तोड़ दिया था।

नहीं बचा सका युवक

शिवा ने तालाब से मोनिका का शव निकाला और परिजनों को सूचित किया। मोनिका के मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिजन आनन-फानन में तालाब के पास पहुंचे। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंचे पुलिस ने शव का पंचनाम कर लिया।

तालाब में मिली अज्ञात लाश

इसी कड़ी में सेवता थाना क्षेत्र के एक गांव मे युवक का शव तालाब में बहते देखा गया। गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस ने पहुचंकर शव को बाहर निकाला और शिनाख्त का प्रयास किया, लेकिन युवक के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिल सकी। पुलिस ने शव का पंचनाम करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

भैंस को नहलाते वक्त नदीं में डूबकर मौत

बिसवां थाना क्षेत्र के बोहरा गांव मे एक एक युवक सुमित अपने चाचा सुरेश के साथ भैंसों को चराने के लिए किवानी नदी के किनारे ले गया, इस बीच सुमित अपनी भैसों को नहलाने के लिए नदी में ले गया। बताया जा रहा है कि सुमित अपनी भैंसों को नहला रहा था, कि अचानक वह गहरे पानी में पहुंच गया। उसके चाचा ने आस-पास मौजूद ग्रामीणों को अवाज लगाकर सुमित को बाहर निकालने के लिए मदद मांगी। गांव वालों ने सुमित को बाहर निकाला और उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया।

Related posts

साढे चार साल पूरे होने पर सीएम योगी बोले- दंगा मुक्त- विकास युक्त उतर प्रदेश

Kalpana Chauhan

जाने क्यों और कैसे फैला कोरोना वायरस, चीन में अब तक 17 लोगों की मौत

Rani Naqvi

गुजरात: अभी तक नहीं मिली बाढ़ पीड़ितों को सरकारी मदद, चुनाव आयोग ने दी थी दलील

Pradeep sharma