Terrorist Attack In Lucknow: संदिग्ध के फोन का डेटा नहीं हुआ रिकवर, एटीएस ने फोन भेजा हैदराबाद

Terrorist Attack In Lucknow: यूपी के लखनऊ से पकड़े गए संदिग्ध आतंकी इस समय 14 दिनों की रिमांड पर है। एटीएस ने इन दोनों संदिग्धों को काकोरी क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। एटीएस लगातार इन दोनों से पूछताछ कर रही है। इसी क्रम में इन दोनों के फोन को जब्त किया गया था और अहम जानकारी जुटाने की कोशिश की गई थी।

एटीएस ने संदिग्ध का फोन भेजा हैदराबाद

लेकिन इन दोनों के मोबाइल फोन का डेटा रिमोट प्रोसेस पर था। फोन को इन दोनों ने छापेमारी के दौरान जला दिया था।एटीएस ने कहा है कि इन दोनों का फोन किसी और के हाथ में जाने पर अपने आप फार्मेट हो गया है। अब दोनों संदिग्धों के फोन को हैदराबाद फॉरेंसिक टीम के पास भेजा जा रहा है।

संदिग्धों ने सबूत मिटाने की कोशिश की थी-एटीएस

एटीएस को उम्मीद है कि इन दोनों के फोन का अगर डेटा रिकवर हो जाता है तो हमारे हाथ बेहद महत्वपूर्ण जानकारी लग सकती है। एटीएस अधिकारी ने कहा छापेमारी के दौरान इन्होने अपना फोन जला दिया था। दोनों छापेमारी के दौरान सबूत मिटाने की कोशिश की थी।

लगातार छापेमारी कर रही एटीएस

अभी संदिग्ध आतंकी मिनहाज के मोबाइल की जांच की जा रही है। इसकी लिए उसका फोन हैदराबाद भेज दिया गया है। लखनऊ फॉरेसिक लैब में फोन का डेटा रिसीव नहीं हुआ है।
एटीएस संदिग्ध आतंकी मिनहाज और मुशीर के साथ छापेमारी भी कर रही है। एटीएस बैट्री-तार-बारूद खरीदने के ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही है। एटीएस को उम्मीद है कि अगर फोन का डेटा रिकवर हो जाता है तो आतंकी नेटवर्क का खुलासा हो सकता है।

संदिग्धों के लेकर एटीएस कर रही छापेमारी
  • संदिग्ध आतंकी मिन्हाज के मोबाइल की जांच
  • हैदराबाद फॉरेंसिक लैब भेजा गया मोबाइल
  • छापेमारी के दौरान जला दिया था मोबाइल
  • लखनऊ फॉरेंसिक लैब में डेटा रिसीव नहीं हो पाया
  • मोबाइल से आतंकी नेटवर्क के खुलासे की उम्मीद।
  • मिनहाज और मुंशीर के साथ एटीएस की छापेमारी
  • बैट्री,तार, बारूद खरीदने के ठिकानों पर छापेमारी
  • कस्टडी रिमांड के दौरान एटीएस की छापेमारी
  • सबूत जुटाने के लिए एटीएस की छापेमारी जारी

लखनऊ: SGPGI ने जारी किया कल्याण सिंह का हेल्थ बुलेटिन, कही ये बात

Previous article

AI की मदद से होगी एकेटीयू की परीक्षा, करनी होगी ये तैयारी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.