September 20, 2021 11:22 pm
featured यूपी राज्य

सत्यपाल सिंह, अडिश्नल एस. पी, यू.पी पुलिस, जिन्होंने 2008 में रूकवाया था  लोनी में होने वाला तब्लीगी जमात का इस्तमा

सत्यपाल सत्यपाल सिंह, अडिश्नल एस. पी, यू.पी पुलिस, जिन्होंने 2008 में रूकवाया था  लोनी में होने वाला तब्लीगी जमात का इस्तमा 

गाजियाबाद। इस वक्त पूरे देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस अपने पैर पसारे हुए है। इसी को देखते हुए सरकार और पुलिस अधिकारी बार -बार लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग की बात कर रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी देश में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इसी के चलते एक ऐसे शख्स का जिक्र करते हैं जिनकी भीड़ को इकट्ठा न होने देने में एक अलग ही पहचान है, सत्यपाल सिंह ,अद्दिसनल एस. पी, यू.पी पुलिस, जिन्होंने 2008 में  लोनी में होने वाले तब्लीगी जमात के इस्तमा को रुकवा दिया था। 

बता दें कि ये किस्सा 2008 का सत्यपाल सिंह सर्किल अफसर थे लोनी जिला गाजियाबाद के। मोहोल गरम था दंगे की आशंका थी । इस पूरी स्तिथि को भाप गए सत्यपाल सिंह ने  ऐड़ी छोटी का जोर लगा दिया और इस्तेमा में भीड़ को रोकने में कामयाब रहे और शहर को दंगे की आग से बचाने में भी। 

वहीं तब्लीगी जमात के लोगो को बुलाया गया पर उन्होंने एक-ना मानी ओर ना कर दी इस्तमा की तारीख । सर्किल अफसर लोनी  ने तुरंत घुसपैठ कर तब्लीगी जमात के चीफ से बात कर 8 महीने को टलवा दिया था। जिसकी वजह से शहर में दंगों की आग को फैलने से रोका गया और शहर को जलने से बचा लिया गया।

Related posts

किसानों के साथ हुए अत्याचार से सपा नेता आहत अपने घर की कर डाली किलेबंदी

sushil kumar

डॉ आरिफ अल्वी पाकिस्तान के 13वें राष्ट्रपति के रूप में नौ सितंबर को लेंगे शपथ

rituraj

बाबरी विध्वंसः कारसेवकों ने 6 दिसंबर 1992 को 5 घंटे में गिराई थी बाबरी मस्जिद,जानें धटना क्रम

mahesh yadav