January 27, 2022 8:29 pm
featured राजस्थान

राजस्थान: बीजेपी सांसद और विधायकों पर गहलोत सरकार का एक्शन, सांसद समेत 3 विधायकों पर FIR दर्ज

cp राजस्थान: बीजेपी सांसद और विधायकों पर गहलोत सरकार का एक्शन, सांसद समेत 3 विधायकों पर FIR दर्ज

राजस्थान में गहलोत सरकार ने बीजेपी सासंद और विधायकों पर कड़ा एक्शन लिया है। कोरोना नियमों की उल्लंघना करने पर सरकार ने बीजेपी सांसद और तीन विधायकों पर पर्चे दर्ज कर दिए हैं।

बीजेपी सांसद और 3 विधायकों पर FIR दर्ज

राजस्थान में गहलोत सरकार ने बीजेपी सासंद और विधायकों पर कड़ा एक्शन लिया है। कोरोना नियमों की उल्लंघना करने पर सरकार ने बीजेपी सांसद और तीन विधायकों पर पर्चे दर्ज कर दिए हैं। चित्तौड़गढ़ से बीजेपी सांसद सीपी जोशी और पार्टी के 3 विधायकों के खिलाफ कोरोना गाइडलाइंस के उल्लंघन का मामला दर्ज़ हुआ है। सभी लोगों पर भीलवाड़ा में बुधवार को निकाली गई ‘जन आक्रोश रैली’ में भीड़ एकजुट करके कोविड गाइडलाइंस का उल्लंघन करने का आरोप है।

FIR दर्ज होने से प्रदेश में गरमाई राजनीति

बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज होने से राजनीति गरमा गई है। वरिष्ठ नेताओं पर मामला दर्ज होने के बाद से बीजेपी खेमे में आक्रोश बना हुआ है। बता दें कि मामला भीलवाड़ा के सुभाष नगर थाने में दर्ज हुआ है। सभी नेताओं-कार्यकर्ताओं पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत विभिन्न धाराओं में मुकदमे दर्ज किए गए हैं। मामला जनप्रतिनिधियों से जुड़ा हुआ है लिहाज़ा आगे की तफ्तीश सीआईडी सीबी को सौंपी गई है।

100 से अधिक नेताओं और कार्यकर्ताओं पर दर्ज केस

बताया जा रहा है कि चित्तौड़गढ़ से बीजेपी सांसद सीपी जोशी, विधायक गोपीचंद मीणा, विधायक गोपाल खंडेलवाल, विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी सहित करीब 100 से अधिक नेताओं-कार्यकर्ताओं पर स्थानीय पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। सांसदों और विधायकों की ओर से निकाली गई जन आक्रोश रैली में भारी संख्या में लोगों का हुजूम उमड़ा जिसे संभालने में पुलिस के भी पसीने छूट गए। बताया जा रहा है कि पुलिस की ओर से कई जगहों पर बीजेपी नेताओं से रैली को नियंत्रित करने की गुजारिश भी की गई थी लेकिन तमाम प्रयास विफल रहे।

गोरखपुर: पिता के पिटने का वीडियो बनाने वाली बेटी की हत्यारा गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला  

सत्ता पक्ष और विपक्ष में वार-पलटवार शुरू

प्रदेश में जहां बीजेपी जन आक्रोश रैली निकालकर सरकार का विरोध कर रही थी तो दूसरी ओर गहलोत सरकार ने नियमों की उल्लंघना करने के मामले में एक्शन ले लिया। अब इसपर राजनीति काफी गर्मा गई है। सत्ता पक्ष और विपक्ष की ओर से बयानबाजी का दौर लगातार जारी है।

Related posts

केदारनाथ धाम के लिये रवाना हुए मोदी, ‍रुद्र गुफा में करेंगे साधना

bharatkhabar

विजय माल्या केस: स्वामी के बाद यशवंत सिन्हा ने किया अरुण जेटली पर वार

mahesh yadav

नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सदस्य निजामुद्दीन…दिया था नेताजी का साथ

shipra saxena