featured देश

सिरसा में डेंगू का प्रकोप जारी, अधिकारियों ने किया निरीक्षण, अब तक 639 मरीज आए सामने

Dengue Prayagraj सिरसा में डेंगू का प्रकोप जारी, अधिकारियों ने किया निरीक्षण, अब तक 639 मरीज आए सामने

हरियाणा के सिरसा जिला में पिछले काफी समय से डेंगू के मामले ज्यादा बढ़ रहे है। अब तक सिरसा जिला में डेंगू के 639 मरीज मिल चुके है कल ही सिरसा जिला में डेंगू के 20 मरीज मिले थे सिरसा के नागरिक अस्पताल में अब 23 डेंगू के मरीजों का इलाज किया जा रहा है। सिरसा जिला में बढ़ते डेंगू के मामलो से स्वास्थ्य विभाग भी अब हरकत में आ गया है। स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों ने आज सिरसा के नागरिक अस्पताल का निरीक्षण किया और सिरसा के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए है।

जिले में डेंगू के बढ़ते हुए मामलों को लेकर मंगलवार को पंचकूला से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की टीम सिरसा नागरिक अस्पताल में पहुंची। यहां उन्होंने मलेरिया विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की। टीम ने डेंगू मरीजों के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए प्रबंधों की स्थिति जानी और आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

Bengal dengue
Bengal dengue

वहीं टीम ने नागरिक अस्पताल में बनाए गए डेंगू वार्ड का भी निरीक्षण किया और मरीजों से बातचीत की। मुख्यालय से आई टीम में बीबीडी विभाग के उपनिदेशक डॉ. राकेश सैनी, एनसीडीसी से डा. श्वेता, डा. नीरज, डा. अपराजिता सिंगला शामिल रहे। उन्होंने मलेरिया विभाग के नोडल अधिकारी डा. हरसिमरण सिंह, जिला महामारी विशेषज्ञ डा. संजय कुमार के साथ बैठक की।

मीडिया से बातचीत करते हुए डिप्टी डायरेक्टर डा. राकेश सैनी ने कहा कि प्रदेश में डेंगू के मामले बढ़े हैं। सिरसा जिला का प्रदेश में तीसरा चौथा स्थान है। डेंगू बढ़ने का कारण हर चार साल के बाद डेंगू का चक्कर पूरा होता है और मामले बढ़ते हैं। इस बार पंजाब में हरियाणा के मुकाबले ढाई गुणा मामले हैं। सरकार द्वारा डेंगू पीड़ितों के लिए प्रबंध किए गए हैं। हरियाणा में सरकार अस्पतालों में भर्ती डेंगू पीड़ितों को एसडीपी मुफ्त उपलब्ध करवाया जा रहा है।

Related posts

सीएम रावत ने ‘सशस्त्र सेना झंडा दिवस’ के अवसर पर प्रदेशवासिंयों को शुभकामनाएं दी

Rani Naqvi

एडीएम ने दिलायी आतंकवाद विरोधी दिवस की शपथ

bharatkhabar

अदालत से सीबीआई ने बोफोर्स दलाली की जांच वाली अर्जी ली वापस, जानें क्या है वजह?

bharatkhabar