82c140ae 89ba 4d86 a79f b0295b8d4cf9 धर्मचन्द गांधी जैन राजकीय महाविद्यालय में हुआ एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन, बच्चों को बताई गई ये बातें

बहरोड़ से संदीप कुमार शर्मा की रिपोर्ट

बहरोड़। धर्मचन्द गांधी जैन राजकीय महाविद्यालय बहरोड़ में मंगलवार को जिला कलेक्टर के आदेशानुसार आमजन और स्काउट, एनसीसी व आर. एस. एस. के विद्यार्थियों और स्टाफ को विभिन्न आपदाओं से जागरूक करने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया गया है। जिसमें अलवर से आई आपदा प्रबन्धन टीम ने विभिन्न आपदा की स्थिति में स्काउट, एनसीसी व आर. एस. एस. के विद्यार्थियों सहित स्टाॅफ को बिना संसाधनों के अपनी और दूसरों की जिंदगी बचाना सिखाया।

जानें प्रशिक्षण शिविर में क्या बताया गया—

बता दें कि कोरोना महामारी के दौरान सरकार द्वारा जनता से कोरोना बचाव के लिए बताई जा रही गाइडलाइन का पालन करने के लिए आग्रह कर रही हैं। इसी के साथ जनता द्वारा गाइडलाइन का पालन भी किया जा रहा है। यह भी एक आपदा ही है, जिससे सरकार हमें बचाने का प्रयास कर रही है। इसी बीच प्रशिक्षक रामेश्वर दयाल ने बताया कि जिला कलेक्टर के आदेश पर मंगलवार कोधर्मचन्द गांधी जैन राजकीय महाविद्यालय बहरोड में मंगलवार को जिला कलेक्टर के आदेशानुसार आमजन और स्काउट, एनसीसी व आर. एस. एस. के विद्यार्थियों और स्टाफ को विभिन्न आपदाओं से जागरूक करने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया गया है। आपात, प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदा के दौरान बचाव में काम आने वाले उपयों जैसे आगजनी, प्राथमिक चिकित्सा, बहुमंजिला इमारतों में अग्निशमन उपायों, सुरक्षित उतरने, पानी बहते हुए लोगों को निकालना, अंधड़ के समय बचाव का पीपीटी प्रजेंटेशन दिया। एक दिवसीय शिविर का मुख्य उद्देष्य बिना संसाधन के आने वाली विभिन्न आपदाओं से आमजन को बचाने के उपाय बताना है।

रेस्क्यू टीम भी प्रशिक्षण शिविर में पहुंची—

वहीं आगे प्रशिक्षक रामेश्वर दयाल ने बताया कि प्रशिक्षण में हमारी आपदा प्रबंधन टीम अलवर मय रेस्क्यू यहां आये हैं। हम इन छात्र छात्राओं को यह बताना चाहते हैं कि प्राकृतिक आपदा हो या मानव जनित आपदा हो तब बिना संसाधन के अपना और आमजन का कैसे बचाव किया जा सकता है। साथ जैसी भी आपदा होती है उसमें बिना संसाधन के आमजन की रक्षा कैसे कर सकते हैं। जैसे आगजनी के समय, रस्सों के द्वारा ऊपर से कैजुअल्टी उतारना आदि सभी प्रकार की आपदाओं की जानकारी दी गई है।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

रूसी कैबिनेट ने किया स्थानीय ऐप्स के लिए नियमों को विस्तृत, जानें क्या है पूरा मामला

Previous article

मानव जैसे दिखने वाले एलियंस की मौजूदगी को FBI ने किया कंफर्म!

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.