featured देश यूपी राज्य

रामलला के जलाभिषेक के लिए अफगानिस्तान की काबुल नदी से आया जल, जानें क्या है रामलला का काबुल नदी से संबंध

Screenshot 2021 11 01 093400 रामलला के जलाभिषेक के लिए अफगानिस्तान की काबुल नदी से आया जल, जानें क्या है रामलला का काबुल नदी से संबंध

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल यानी रविवार को अयोध्या दौरे पर गए थे। सीएम योगी के दौरा शुरू होने से पहले खबर आ रही थी वह अयोध्या में आयोजित रामायण कॉन्क्लेव के समापन समारोह में शामिल होंगे। और दीपोत्सव की चल रही तैयारियों का जायजा लेंगे। लेकिन जब सीएम योगी अयोध्या पहुंचे तब सीएम योगी के दौरे की असली वजह सामने आई। 

काबिल नदी के जल से रामलला का सीएम योगी ने किया अभिषेक 

सीएम योगी अयोध्या पहुंचे और उन्होंने राम जन्मभूमि के दर्शन कर रामलला का अफगानिस्तान की पवित्र नदी का पुल के जल से जलाभिषेक किया। सीएम योगी ने जलाभिषेक के दौरान काबुल नदी के जल में गंगाजल को मिलाकर रामलला को समर्पित किया। साथ ही अफगानिस्तान से जिस महिला व बच्ची ने काबुल नदी का जल भेजा था उसकी सुरक्षा की कामना की।

ये है अफगानिस्तान की काबुल नदी के जल की कहानी 

अफगानिस्तान की एक बालिका की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रभु श्री राम की जलाभिषेक के लिए अफगानिस्तान की पवित्र काबुल नदी से जल भेजा गया था। बताया जा रहा है अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद पीड़ित बालिका ने पीएम मोदी को अफगानिस्तान की पवित्र नदी काबुल नदी का जल भेजा था। और निवेदन किया था कि काबुल नदी के इस जल से भगवान श्री राम का जलाभिषेक किया जाए और और उसके बाद पीएम मोदी के निर्देश पर सीएम योगी ने अफगानिस्तान की काबुल नदी से आए पवित्र जल में गंगा जल मिलाकर श्री राम लला का जलाभिषेक किया। 

सीएम योगी ने जल के बारे में ये कहा

सीएम योगी ने रामलला का जलाभिषेक करने के बाद बताया है कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद भय के साए में जी रहे महिला व बच्ची की ओर से एक बच्ची ने उस दर्द को काबुल नदी के जल के सहारे अयोध्या की पावन धरती पर भेजा है। उनकी पीड़ा को साथ भारत की संवेदनाओं को जोड़ते हुए आज मुझे अयोध्या की पावन धरती पर रामलला को जल अर्पित करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

रामलीला मंच का आज होगा शुभारंभ

वही आज से अयोध्या में राम जन्मभूमि पर रामलीला मंच के द्वारा रामलीला का आरंभ किया जाएगा। यह रामलीला राम नगरी में 5 नवंबर दीपोत्सव कार्यक्रम तक चलेगी।

Related posts

प्रियंका गांधी ने पूछा सरकार से सवाल, 22 लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन ?

pratiyush chaubey

अब रोजाना होगी रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई-सुप्रीम कोर्ट

piyush shukla

कश्मीर में सीआरपीएफ जवान ने खुदकुशी की

bharatkhabar