देश भारत खबर विशेष लाइफस्टाइल हेल्थ

अब आप एटीएम से निकाल सकेंगे दवाइयां, जानिये कब और कैसे

medicine अब आप एटीएम से निकाल सकेंगे दवाइयां, जानिये कब और कैसे

अब तक आप एटीएम से पैसे ही निकालते आयें हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा था कि एटीएम अब दवाइयां निकालने के काम भी आयेगा। जी हां ये सच है अब आप एटीएम से दवाइंयां भी निकाल सकते हैं। यूपी सरकार बहुत जल्द ये काम करने जा रही है। हर गांव के लोगों को दवाइयां मिल सके इसके लिये हर ब्लाक में दवा एटीएम लगाने जा रही है।

कोरोना काल में होम्‍योपैथिक दवा लेने वाले ध्‍यान से पढ़ लें ये खबर  

आपको बता दे कि देश के सभी छह हजार ब्लाक में दवाई एटीएम मशीन लगाने की शुरुआत होने जा रही है। शुक्रवार को आइटी मंत्रालय के अधीन काम करने वाली कामन सर्विस सेंटर ने इस काम के लिए आंध्र प्रदेश सरकार की एएमटीजेड कंपनी से इस पर बातचीत की।

आपको बता दे कि सीएससी पहले से ही ब्लाक स्तर पर अयुर संजीवनी केंद्र चला रही है। दवाइयां  देने वाली एटीएम मशीनें इन्हीं केंद्रों पर लगायी जाने वाली हैं।

बता दे कि इन केंद्रों पर गर्भधारण, कोरोना जांच के साथ- साथ कई और भी मेडिकल उपकरण भी मिल सकेंगे। सीएससी के जरिये गांवों में ऑक्सीजन सिलेंडर या कंसंट्रेटर भी मिल सकेंगे। आप इन्हें किरये पर ले सकते हैं वो भी कम पैसे देकर। वहीं चालू वित्त वर्ष 2021-22 के आखिर तक सभी ब्लाक में दवाईयों के लिये एटीएम लगाने का फैसला किया गया है।

आपको बता दें कि सीएससी के संजीवनी केंद्र पर डाक्टर उन्हें दवा भी लिखते हैं। दवा की पर्ची भी वर्चुअल तरीके से जेनरेट होती है।  इस वजह से ग्रमीण लोग शहरों में दवा लेने के लिये जानें वाली परेशानी से बच जायेंगे।

ब्लाक में दवा देने वाली एटीएम की सुविधा होने से उन्हें दवा के लिये इंतजार नहीं करना पड़ेगा।  एटीएम मशीन में डाक्टर की पर्ची को डाला जाएगा और उसके हिसाब से मशीन से दवाइयां बाहर आ जायेगी।  बता दें कि मशीन में ई-कामर्स कंपनियां दवाइयां को सप्लाई करेंगी।  इसके अलावा एटीएम मशीन में जेनरिक दवा भी रखी जाएंगी।

एएमटीजेड ग्रामीण उद्यमियों को मेडिकल उपकरणों के संचालन के लिए विशाखापत्तनम में प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने जा रही है। इन ग्रामीण उद्यमियों को दवा वाली एटीएम मशीन के संचालन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। एक बैच में 100 ग्रामीण उद्यमियों को मुफ्त में प्रशिक्षित किया जाएगा और उन्हें आर्थिक मदद भी दी जायेगी। संजीवनी केंद्र के  सरकार का मकसद ग्रामीण स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करना है।

 

Related posts

‘राजद’ के स्थापना दिवस पर छलके तेजस्वी यादव के आंसू, तेजप्रताप ने पहनाया तेजस्वी को मुकुट

Ankit Tripathi

हिमालयी राज्यों को मिलेगा रोजगार, सरकार लगा रही जागरूकता शिविर

Trinath Mishra

श्रीनगर में काश्मीरी नेता परेशान, राज्यपाल से कहा कुछ तो बता दो क्या होने वाला है

bharatkhabar