featured यूपी शख्सियत

Mulayam Singh Yadav Passed Away: जानिए मुलायम के पहलवान से लेकर नेता जी बनने का सफर

mulayam singh yadav Mulayam Singh Yadav Passed Away: जानिए मुलायम के पहलवान से लेकर नेता जी बनने का सफर

Mulayam Singh Yadav Passed Away: सपा सरंक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने आज 82 साल की आयु में सुबह 8:15 बजे अंतिम सांस ली।

ये भी पढ़ें :-

LIVE: सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव का निधन, राष्ट्रपति ने कहा- नेताजी के निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर पीएम मोदी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, सीएम योगी समेत कई नेताओं ने दुख प्रकट किया है। तो आइए जानते हैं मुलायम सिंह यादव के व्यक्तिगत जीवन व राजनीतिक सफर के बारे में……..

02 10 2022 mulayam singh yadav 23114125 Mulayam Singh Yadav Passed Away: जानिए मुलायम के पहलवान से लेकर नेता जी बनने का सफर

मुलायम सिंह यादव का व्यक्तिगत जीवन

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा जिले के सैफई गांव में मूर्ति देवी व सुघर सिंह यादव के किसान परिवार में हुआ। देश की राजनीति में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का कुनबा सबसे बड़ा है। परिवार के 25 से ज्यादा लोग ऐसे हैं जो राजनीति में सक्रिय हैं। शुरुआत मुलायम सिंह यादव के बाबा से करते हैं। उनका नाम मेवाराम था। मेवाराम के दो बेटे थे। सुघर सिंह और बच्चीलाल सिंह। सुघर सिंह के पांच बेटे हुए। इनमें मुलायम सिंह यादव, रतन सिंह, राजपाल सिंह यादव, अभय राम सिंह और शिवपाल सिंह यादव। भाइयों में मुलायम सिंह तीसरे नंबर और शिवपाल सिंह सबसे छोटे हैं।

mulayam singh yadav, china issue, loksabha, sansad

 

पिता सुघर सिंह बनाना चाहते थे पहलवान

पिता सुघर सिंह उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे। पहलवानी में अपने राजनीतिक गुरु चौधरी नत्थूसिंह को मैनपुरी में आयोजित एक कुश्ती-प्रतियोगिता में प्रभावित करने के पश्चात मुलायम सिंह यादव ने नत्थूसिंह के परम्परागत विधान सभा क्षेत्र जसवन्त नगर से अपना राजनीतिक सफर शुरू किया।

mulayam singh yadav 3 Mulayam Singh Yadav Passed Away: जानिए मुलायम के पहलवान से लेकर नेता जी बनने का सफर

मुलायम सिंह यादव का राजनीत‍िक कर‍ियर

1967 में मुलायम सिंह यादव पहली बार विधायक और मंत्री भी बने। इसके बाद 50 वर्ष की उम्र में मुलायम  5 दिसंबर 1989 को पहली बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। अब तक तीन बार वह मुख्यमंत्री और केंद्र में रक्षा मंत्री रह चुके हैं। मुलायम ने अपना राजनीतिक अभियान जसवंत नगर विधानसभा सीट से शुरू किया और सोशलिस्ट पार्टी, प्रजा सोशलिस्ट पार्टी से आगे बढ़े। मंत्री बनने के लिए मुलायम सिंह यादव को 1977 तक का इंतजार करना पड़ा। केन्द्र और उत्तर प्रदेश में जनता पार्टी की सरकार बनी और वह राज्य सरकार में मंत्री बनाये गये।

मुलायम सिंह यादव

 

बाद में चौधरी चरण सिंह की पार्टी लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष बने। विधायक का चुनाव लड़े और हार गए। 1967, 1974, 1977, 1985, 1989 में वह विधानसभा के सदस्य रहे। 1982-85 में विधानपरिषद के सदस्य रहे। आठ बार राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे। 1992 में समजावादी पार्टी का गठन किया। वे तीन बार 5 दिसम्बर 1989 से 24 जनवरी 1991 तक, 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक और 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। इसके अतिरिक्त वे केन्द्र सरकार में रक्षामंत्री भी रह चुके हैं।

Related posts

Gulf Investment Summit: जम्‍मू-कश्‍मीर के करीब 7 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, समिट में 27 हजार करोड़ का मिला इन्वेस्टमेंट

Rahul

प्रज्ञा सिंह पर चुनाव आयोग ने लगाया तीन दिन का प्रतिबंध, गुस्से में ये बोलीं साध्वी

bharatkhabar

शहीद भगत सिंह के नाम पर होगा चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नाम, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया एलान

Rahul