Breaking News यूपी

अंतरराष्ट्रीय सदस्यता मिलने के बाद लखनऊ चिड़ियाघर की बदल जाएगी सूरत, जानिए कैसे

अंतरराष्ट्रीय सदस्यता मिलने के बाद लखनऊ चिड़ियाघर की बदल जाएगी सूरत, जानिए कैसे

लखनऊ: नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान लखनऊ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कर रहा है। वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ जू एक्यूरियम की सदस्यता लखनऊ चिड़ियाघर को मिल गई है। इसके बाद अब यहां कई बदलाव हो जाएंगे।

लखनऊ चिड़ियाघर को मिलेंगे यह फायदे

अंतर्राष्ट्रीय सदस्य मिलने के बाद लखनऊ चिड़ियाघर की स्थिति में काफी परिवर्तन आएगा। विश्व मंच पर इसे और ख्याति मिलेगी। इसके साथ ही यहां कई जरूरी बदलाव भी किए जाएंगे। रिसर्च के साथ-साथ अन्य अध्ययन और चिकित्सा संबंधी बदलाव हो सकते हैं। इसके साथ ही भविष्य में होने वाली अंतरराष्ट्रीय बैठक में हिस्सा लेने का भी मौका मिलेगा।

अगर आसान भाषा में समझें लखनऊ चिड़ियाघर का वैज्ञानिक अध्ययन होगा। अंतरराष्ट्रीय वन्यजीव कानून यहां लागू हो जाएंगे। वन्यजीवों से जुड़े दस्तावेजों का रखरखाव और बेहतर तरीके से होगा। इसके साथ ही मछलीघर जैसी विश्व स्तर की सुविधाएं यहां भी उपलब्ध होगी। लखनऊ चिड़ियाघर से जुड़ी पत्रिकाएं और वेबसाइट भी उपलब्ध होगी।

70 एकड़ में फैला है लखनऊ चिड़ियाघर

1921 में पहली बार यह अस्तित्व में आया था। राजधानी लखनऊ के दिल में बसा प्राणी उद्यान काफी लोकप्रिय है। यहाँ 1000 से अधिक जानवर मौजूद हैं, अंतरराष्ट्रीय सदस्यता मिलने के बाद यहां की सुविधाओं में और बेहतरी होगी। आने वाले पर्यटकों की संख्या भी बढ़ेगी और उनको मिलने वाला रोमांच भी दोगुना हो जाएगा।

Related posts

क्या चुनाव की टेंशन में हैं लालू? परिणाम से पहले बिगड़ी तबीयत!

Hemant Jaiman

बागपत में दिनदहाडे़ युवक पर बरसाईं गोलियां, वारदात के बाद बदमाश फरार

Aman Sharma

प्रियंका गांधी द्वारा 1000 बसों की सूची भेजने के बाद यूपी सरकार ने उन्हें फिर से लिखा एक नया पत्र भेजा

Rani Naqvi