September 20, 2021 11:10 pm
featured यूपी

श्रीराम शर्मा द्वारा रचित साहित्य अमूल्य : राजेन्द्र तिवारी

श्रीराम शर्मा द्वारा रचित साहित्य अमूल्य

लखनऊ। मुख्य सचिव कार्यालय सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में शुक्रवार को मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी को गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट की तरफ से गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित 79 खण्डों का 344 वाड.मय साहित्य भेंट किया गया।

इस मौके पर मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि यह उनके लिए परम सौभाग्य की बात है कि श्रेष्ठ संत श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा लिखित अमूल्य ग्रन्थों को एक साथ दर्शन करने का उन्हें आज अवसर प्राप्त हुआ है। पं. श्रीराम शर्मा के बारे में कुछ कहना सूर्य को दिया दिखाने जैसा है। वह एक महान संत, योगी एवं युग पुरूष थे। वह रचनात्मक ऊर्जा को युग कल्याण में लगाने के लिए निरन्तर कार्य करते रहे। उनके द्वारा रचित साहित्य अमूल्य है।

मुख्य सचिव ने गायत्री ज्ञान मन्दिर के ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत लखनऊ के सभी प्रमुख संस्थाओं एवं पुस्तकालयों को पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित 79 खण्डों का वाड्मय (सेट) निःशुल्क प्रदान करने के लिए गायत्री परिवार की सराहना की। उन्होंने कहा कि गायत्री परिवार विभिन्न आयोजनों के माध्यम से आचार्य जी के पुनीत महायज्ञ को आगे बढ़ाते रहें।
वाड्मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानन्द शर्मा ने बताया कि वह अब तक 343 संस्थाओं को उनकी लाइब्रेरी के लिए 79 खण्डों का वाड.मय साहित्य का सेट निःशुल्क उपलब्ध करा चुके हैं। उन्होंने कहा कि संस्था का प्रयास है कि समाज के हर क्षेत्र में नैतिक मूल्यों का विकास हो।

कार्यक्रम में संस्था की ओर से डॉ0 नरेन्द्र देव, देवेन्द्र सिंह, स्वाती शर्मा, चांदनी शर्मा तथा मुख्य सचिव के प्रमुख स्टाफ आफिसर अनीता सी. मेश्राम, स्टाफ आफिसर डॉ0 अनिल कुमार आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ गायत्री मंत्र के वाचन से किया गया।

Related posts

ब्रज में योगी: यमुना स्‍वच्‍छता की बात, 411 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं की सौगात

Shailendra Singh

इन फिल्मों के दीवाने थे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी

mahesh yadav

क्या हैं ब्रिटेन में मिले कोविड के नए स्ट्रेन के लक्षण, जानें ये कितना खतरनाक

Shagun Kochhar