राजस्थान में हुआ पंजाबी महासभा गठन-राजेश टंडन बने अध्यक्ष

नई दिल्ली। राजस्थान मे आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कॉग्रेस दोनों ही हर तरह से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिश कर रहे है और राजस्थान की सत्ता हथियाने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही हैं। बता दे कि इसी बीच एक खबर पंजाबी समाज से आ रही हैं। जिसका गठन कांग्रेस नेता राजेश टंडन को अध्यक्ष बनाने को लेकर हैं। पंजाबी समाज में सामाजिक, धार्मिक, शैक्षिक और सांस्कृतिक सरोकारों से जुड़कर समाज को आगे बढ़ाने के उद्देश्य को लेकर राजस्थान पंजाबी महासभा का गठन किया गया है। कांग्रेस नेता राजेश टंडन को सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुना गया।

मेरवाड़ा एस्टेट में गुरुवार को कार्यकारिणी की भी घोषणा की गई। कार्यकारिणी में संरक्षक डॉ. एसके अरोड़ा, डॉ. रमेश क्षेत्रपाल, राजकुमार अरोड़ा, डॉ. राजा मेहरा व राजीव धमीजा बनाए गए हैं। उपाध्यक्ष वीरेंद्र वालिया व रविंद्र भसीन, महासचिव डॉ. सतीश अरोड़ा, पुनीत वालिया व जगपाल सिंह वालिया, सचिव दलजीत ग्रेवाल, विजय कुमार अरोड़ा शाह व कुलवंत सिंह कोचर, सह सचिव अनिल ढींगरा, अंकुर अरोड़ा, नरेश भाटिया, राजेश ऐरी, कमांडर बीएस जोशी व धर्मेंद्र मल्होत्रा, कोषाध्यक्ष अजीत दुआ, प्रचारमंत्री अनुज टंडन व कमल वाधवा, संगठन सचिव सुरेंद्र नागपाल, मंजीत सिंह सलूजा व राजकुमार भाटिया होंगे।

कार्यकारिणी सदस्य के रूप में परीक्षित गुजराल, संजीव वर्मा, प्रदीप चौधरी, किशन गोपाल खत्री, रजियर बेदी, कुलदीप सिंह, मुकेश सेठ, मोहित मल्होत्रा व संजीव अरोड़ा तथा इसी प्रकार विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में एसपी सहगल, डॉ. दिनेश बेदी, डॉ. खुंगर, बलविंदर सिंह, अनूप सिंह बेदी, अजय ढींगरा, गोपाल शर्मा, अश्विनी दुग्गल व बलवीर सिंह को स्थान दिया।

इस मौके पर टंडन ने कहा कि महासभा समाज में कुरीतियां दूर करने, सामूहिक विवाह आयोजित करने, बालिकाओं की शिक्षा, युवक युवतियों को रोजगार उपलब्ध कराने, विभिन्न कैंप लगाने सहित विभिन्न धार्मिक आयोजन करेगी। साथ ही पुष्कर में समाज की धर्मशाला व माता मंदिर के लिए सरकार से जमीन की मांग की जाएगी।