kumbh sant Kumbh 2021: आज से शुरू हुआ दूसरा शाही स्नान, 13 अखाड़ों के संत लगा रहे डुबकी

हरिद्वार: कोरोना महामारी के बीच धर्मनगरी हरिद्वार में चले महाकुंभ में आज दूसरा शाही स्नान है। श्रद्धालुओं के साथ ही 13 अखाड़ों के साधु-संत भी सोमवती अमावस्या के मौके पर गंगा में आस्था की डुबकी लगाएंगे। यह शाही स्नान 14 अप्रैल तक चलेगा। प्रशासन की तरफ से तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं।

स्नान को लेकर जारी कार्यक्रम के मुताबिक, 13 अखाड़े गंगा में आस्था की डुबकी लगाएंगे। इसमें 7 सन्यासी और 3 बैरागी और 3 वैष्णव अखाड़े भी शामिल हैं। हर की पैड़ी के ब्रह्मकुंड में अखाड़ों के संतों के लिए शाही स्नान की व्यवस्था की गई है।

अखाड़ों के संतों के स्नान का समय

-सुबह 8.30 बजे निरंजनी अखाड़े के संत कुंभ में शाही स्नान
-सुबह 9 बजे जूना अखाड़े, आवाहन और किन्नर अखाड़ा और अग्नि अखाड़े का समय स्नान के लिए तय किया गया है।
-सुबह 9.30 बजे महानिर्वाणी अखाड़े के संत हर की पौड़ी पर शाही स्नान
-सुबह 10.30 बजे श्री निर्मोही अणी, दिगंबर अणी, निर्वाणी अणी समेत तीनों बैरागी अखाड़ों के संत गंगा में आस्था की डुबकी लगाएंगे।
-दोपहर 12 बजे श्री पंचायती बड़ा उदासीन अखाड़े के लिएशाही स्नान का समय तय किया गया है।
–दोपहर 2.30 मिनट पर श्री पंचायती नया उदासीन अखाड़े के संत शाही स्नान करेंगे।
-सबसे आखिरी में दोपहर 3 बजे श्री निर्मल अखाड़े के संतों के शाही स्नान का समय तय किया गया है।

ब्रह्मकुंड में अखाड़ों के संत ही करेंगे स्नान

ब्रह्मकुंड पर सिर्फ अखाड़ों के संतों के स्नान की व्यवस्था की गई है। यहां पर सुबह 7 बजे के बाद आम श्रद्धालुओं को गंगा स्नान के लिए इजाजत नहीं है। अखाड़ों के संतों के शाही स्नान के बाद ही आम लोगों को ब्रह्मकुंड में स्नान की इजाजत दी जाएगी। श्रद्धालु सुबह 7 बजे तक ही हर की पैड़ी में स्नान की अनुमति है, उसके बाद का समय हर की पैड़ी पर अखाड़ों के लिए आरक्षित है।

Haridwar Kumbh 2021: महाकुंभ में दूसरा शाही स्नान, भक्त लगा रहे आस्था की डुबकी

Previous article

चायवाला प्रधानमंत्री तो चायवाली बनेगी प्रधान, आखिर क्या है मामला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured