featured क्राइम अलर्ट दुनिया देश

श्रीलंका में हिंसा, हालात हुए बदतर, राष्ट्रपति आवास तक पहुंचे प्रदर्शनकारी, प्रेसिडेंट हाउस छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटबाया

srilanka news1 श्रीलंका में हिंसा, हालात हुए बदतर, राष्ट्रपति आवास तक पहुंचे प्रदर्शनकारी, प्रेसिडेंट हाउस छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटबाया

श्रीलंका में आर्थिक संकट को लेकर जारी प्रदर्शन के बीच आंदोलनकारियों ने राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के सरकारी आवास पर कब्जा कर लिया।

यह भी पढ़े

 

England vs India 2nd T20: आज दूसरा टी20 मैच में भिड़ेंगे भारत और इंग्लैंड, जानिए कब, कहां और कैसे देखें मुकाबला

मीडिया रिपोर्ट्स में राजपक्षे के देश छोड़ने की अटकलें लगाई जा रही हैं। श्रीलंका में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के खिलाफ लंबे वक्त से ‘Gota Go Gama’ और ‘Gota Go Home’ आंदोलन जारी है।

 

fxnylewxeaanpwe 1657354124 श्रीलंका में हिंसा, हालात हुए बदतर, राष्ट्रपति आवास तक पहुंचे प्रदर्शनकारी, प्रेसिडेंट हाउस छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटबाया

 

सिंहली भाषा में गामा का मतलब गांव होता है। प्रदर्शनकारी एक जगह जमा होकर तंबू लगाते हैं और गाड़ियों के हार्न बजाते हुए राष्ट्रपति और सरकार के खिलाफ गोटा-गो-गामा का नारा बुलंद करते हैं। इनका मकसद राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को सत्ता छोड़ने के लिए मजबूर करना था।

 

image 15 1657354498 श्रीलंका में हिंसा, हालात हुए बदतर, राष्ट्रपति आवास तक पहुंचे प्रदर्शनकारी, प्रेसिडेंट हाउस छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटबाया

 

श्रीलंका में हालात खराब हैं। आज तो वहां के राष्ट्रपति के आवास तक प्रदर्शनकारियों की भीड़ पहुंच गई। हालात देख श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे वहां से फरार हो गए। बता दें कि देश की राजधानी कोलंबो में शनिवार को प्रदर्शनकारियों की भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस छोड़े। श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के सरकारी आवास पर कब्जा कर लिया है।

 

srilanka news1 श्रीलंका में हिंसा, हालात हुए बदतर, राष्ट्रपति आवास तक पहुंचे प्रदर्शनकारी, प्रेसिडेंट हाउस छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटबाया

राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे से इस्तीफे की मांग करते हुए प्रदर्शनकारी बैरिकेड्स को तोड़ राष्ट्रपति आवास के परिसर में घुस आए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल की शुरुआत से ही राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवेश द्वार पर प्रदर्शनकारी डटे हुए हैं। तब से गोटाबाया राष्ट्रपति भवन का इस्तेमाल अपने घर और आफिस के तौर पर कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान पुलिस के दो जवान समेत 30 लोग प्रदर्शन के दौरान जख्मी हो गए और इन्हें कोलंबो के अस्पताल ले जाया गया।

Related posts

होटल ताज मान सिंह की ई-नीलामी के लिए सुप्रीम कोर्ट की NDMC को हरी झंडी

Nitin Gupta

जानिए: क्या-क्या है मोदी सरकार के अंतिम बजट के पिटारे में

Rani Naqvi

सिद्धारमैया का बड़ा फैसला, लिंगायत को दिया अलग धर्म का दर्जा

lucknow bureua