featured देश

हरियाणा में बीजेपी को जेजेपी के साथ सात निर्दलीय विधायकों के भी समर्थन का मिला साथ

haryana govt 5275073 835x547 m हरियाणा में बीजेपी को जेजेपी के साथ सात निर्दलीय विधायकों के भी समर्थन का मिला साथ

नई दिल्ली। बीजेपी ने 25 अक्टूबर को जेजेपी के साथ गठबंधन कर लिया जिसने 90 सदस्यीय विधानसभा में 10 सीटें जीती हैं। उप मुख्यमंत्री जेजेपा से होगा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जेजेपा नेता दुष्यंत चौटाला के साथ नई दिल्ली में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री भाजपा से और उपमुख्यमंत्री क्षेत्रीय दल जेजेपा से होगा। 24 अक्टूबर को हरियाणा विधानसभा चुनाव की मतगणना में भाजपा को 40 सीटें मिलने के बाद पार्टी के शीर्ष नेता सक्रिय हो गए थे। भाजपा का सीटों का आंकड़ा बहुमत से छह कम रह गया था। सात निर्दलीय विधायकों ने भी भाजपा को समर्थन की घोषणा की है।

बता दें कि भाजपा का चौटाला को अपने पाले में लाने का निर्णय जाटों को तुष्ट करने की उसकी इच्छा को रेखांकित करता है जिससे कि उसकी सरकार सुचारू तरीके से चल सके। राज्य में प्रभावी जाट समुदाय के बारे में माना जाता है कि उन्होंने हाल के चुनावों में भाजपा के खिलाफ वोट किया। इससे यह भी सुनिश्चित होगा कि उसे सरकार के बने रहने के लिए निर्दलीयों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

अनुराग ठाकुर ने भूमिका निभाई

वहीं 24 अक्टूबर रात से ही जजपा के साथ एक अलग चैनल खोल कर भाजपा ने बातचीत शुरू कर दी थी। इसे वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर चला रहे थे। अनुराग ठाकुर के दुष्यंत चौटाला से निजी संबंध भी हैं और इन दोनों युवा नेताओं ने कई दौर की बातचीत कर यह स्थिति बना ली थी कि भाजपा और जजपा का गठबधन लगभग तय हो गया था। सारी बातें तय होने के बाद अहमदाबाद गए पार्टी अध्यक्ष अध्यक्ष अमित शाह को संदेश भेजा गया। शाह ने दिल्ली आकर दुष्यंत चौटाला के साथ आखिरी दौर की बातचीत की। इस बैठक में एकमात्र मुद्दा उपमुख्यमंत्री का रहा जिस पर भाजपा ने सहमति जता दी।

किसी पार्टी को नहीं मिला बहुमत, भाजपा सबसे बड़ी पार्टी

साथ ही राज्य विधानसभा चुनाव में किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है, हालांकि भाजपा 40 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। चुनाव नतीजे आने के बाद भारतीय जनता पार्टी अगली सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत के आंकड़े से छह सीट पीछे रह गई। चुनाव में कांग्रेस को 31 सीटों पर जीत मिली है, जबकि जननायक जनता पार्टी (जजपा) को 10 और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) और हरियाणा लोकहित पार्टी (एचएलपी) को एक-एक सीट मिली हैं। स्वतंत्र उम्मीदवारों ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है।

2014 की तुलना में इस बार कम हुआ मतदान

वहीं हरियाणा में सोमवार (21 अक्टूबर) को 68 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया था जो 2014 में हुए विधानसभा चुनाव की तुलना में कुछ कम था। उस वर्ष 76.54 प्रतिशत मतदान हुआ था। वर्ष 2014 में भाजपा ने 47 सीटों पर जीत दर्ज की थी और कांग्रेस को 15 सीटें मिली थी। इंडियन नेशनल लोकदल ने 19 सीटों पर जीत हासिल की थी और बहुजन समाज पार्टी तथा शिरोमणि अकाली दल को एक-एक सीट मिली थी। पांच निर्दलीय थे। इस बार 105 महिलाओं समेत 1,169 उम्मीदवार मैदान में थे।

Related posts

महाराष्ट्रा : विधानसभा स्पीकर बने भाजपा के नार्वेकर, स्पोर्ट में पड़े 164 वोट

Rahul

Election Date in Bihar: लालू का ट्वीट “उठो बिहारी-करो तैयारी”

Trinath Mishra

आरटीओ ने नये कानूनों के बीच और पीयूसी केंद्र खोलने की बात कही

Trinath Mishra