featured उत्तराखंड

ऋषिकेश एम्स में एक नर्सिंग ऑफिसर सहित चार लोग पाए गए कोरोना पॉजिटिव

uttrakhand 3 ऋषिकेश एम्स में एक नर्सिंग ऑफिसर सहित चार लोग पाए गए कोरोना पॉजिटिव

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) ऋषिकेश में एक नर्सिंग ऑफिसर सहित चार लोगों की कॉविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

देहरादून। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) ऋषिकेश में एक नर्सिंग ऑफिसर सहित चार लोगों की कॉविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। निर्मल बाग ऋषिकेश निवासी 29 वर्षीय नर्सिंग ऑफिसर कार्डियोलॉजी विभाग में तैनात है। 25 जून को उनका सैंपल लिया गया था। इनमें कोविड के कोई लक्षण नहीं पाए गए।

सोमवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन्हें कोविड-19 वार्ड में भर्ती किया गया है। एक अन्य मामले में इंदिरा नगर ऋषिकेश निवासी 29 वर्षीय एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 26 जून को बिना लक्षण वाले इस पेशेंट को दर्द की शिकायत होने पर एम्स में भर्ती किया गया। पथरी की शिकायत वाले इस पेशेंट को उसी रोज डिस्चार्ज कर दिया गया था। सैंपल लेने के बाद होम क्‍वारंटाइन पर भेजा गया था।

हेल्थ सुपरवाइजर एसएस यादव ने बताया कि यह व्यक्ति वर्तमान में गंगा नगर ऋषिकेश स्थित आपने ससुराल में रह रहा है। उसके ससुराल से 14 लोगों को क्‍वारंटाइन किया गया है। इनके अलावा मोतीचूर रायवाला निवासी 40 वर्षीय एक व्यक्ति 26 जून को एम्स की ओपीडी में आया था। इनका सैंपल पॉजिटिव आया है। भोगीवाली मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश निवासी 26 वर्षीय एक अन्य व्यक्ति 26 जून को एम्‍स आए थे। 28 तारीख तक वह सीमा डेंटल कॉलेज में क्‍वारंटाइन रहे। जिसके बाद वह मुजफ्फरनगर चले गए थे। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसकी सूचना सीएमओ मुजफ्फरनगर (यूपी) को दी गई है।

https://www.bharatkhabar.com/kamya-punjabi-and-karan-patels-relationship-was-broken-due-to-depression/

कोरोना के लिहाज से रविवार का दिन उत्तराखंड के लिए राहतभरा रहा। जितने नए मामले आए, उसके तीन गुना से अधिक मरीज स्वस्थ होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो गए। इन्हें मिलाकर प्रदेश में स्वस्थ हुए मरीजों का आंकड़ा दो हजार पार पहुंच गया है। यह संख्या कुल मरीजों की 71.48 फीसद है।

प्रदेश में अब तक कोरोना के 2823 मामले आ चुके हैं। इनमें 2018 स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 749 एक्टिव केस हैं, जबकि 18 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं। कोरोना संक्रमित 38 मरीजों की मौत हो चुकी है। इनमें हल्द्वानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत रविवार को हुई है। उसे बुखार, डायरिया व सांस की भी दिक्कत थी।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, रविवार को 1006 सैंपल की जांच रिपोर्ट मिली है। जिनमें 974 रिपोर्ट निगेटिव व 32 की पॉजिटिव आईं। 106 मरीजों को अस्तपाल से छुट्टी भी मिली। इनमें नैनीताल से 34, टिहरी से 32, पौड़ी से 14, रुद्रप्रयाग से सात, चमोली से पांच, देहरादून, ऊधमसिंहनगर व हरिद्वार से चार-चार और अल्मोड़ा से दो लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं।

Related posts

सांसद चिन्मयानंद प्रकरण: पीड़ित छात्रा ने SIT को सौँपे सबूत

Trinath Mishra

आज शपथ लेंगे उत्तराखण्ड के नवनिर्वाचित विधायकों

kumari ashu

खाट तो ले गए अब क्या खटिया खड़ी करोगे : पीएम मोदी

shipra saxena