India China Border विस्तारवादी महत्वाकांक्षाएं, चीन अभी भी एलएसी पर कई हिस्सों से पीछे नहीं हटा, अमेरिकी कमांडर का दावा

वॉशिंगटन – अमेरिका के एक टॉप कमांडर ने कांग्रेस की सुनवाई के दौरान सीनेट की ‘आर्म्ड सर्विसेज कमेटी’ के सदस्यों को यह ख़बर दी है कि चीन अभी भी एलएसी पर कई हिस्सों से पीछे नहीं हटा है। जहां चीन ने सीमा पर विवाद के दौरान कब्जा कर लिया था।

यही वजह है भारत और चीन के बीच तनाव की –
बताया जा रहा है कि यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड के कमांडर एडमिरल फिलिप्स डेविडसन ने कहा कि चीन अभी तक प्रारंभिक संघर्ष के बाद जब्त किए गए इलाकों से पीछे नहीं गया है। इस वजह से चीन और भारत के बीच तनाव का कारण बना हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि समय-समय पर अमेरिका ने भारत को सीमा पर स्थिति की जानकारी देने के साथ ही ठंड के मौसम में कपड़े और अन्य उपकरण देकर मदद की है।

पैंगोंग के अलावा अन्य विवादों पर नहीं हुई कोई भी प्रगति –
बता दे कि हाल ही में चीनी और भारतीय सेना ने लद्दाख में पैंगोंग झील के आसपास विवादित सीमा के कुछ हिस्सों से अपने-अपने सैनिकों को वापस ले लिया है। लेकिन गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स क्षेत्र, देमचोक और देपसांग मैदानों में अन्य विवादों पर कोई प्रगति नहीं हुई है। यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड के कमांडर एडमिरल फिलिप्स डेविडसन ने कांग्रेस की सुनवाई के दौरान यह भी कहा कि चीन ने दबाव बढ़ाने के लिए और पूरे क्षेत्र में अपने प्रभाव का विस्तार करने के लिए एक आक्रामक सैन्य रुख अपनाया है। चीन की विस्तारवादी महत्वाकांक्षाएं पश्चिमी सीमा पर दिख रही हैं जहां उसके सैनिक भारतीय सैन्य बलों के साथ गतिरोध में शामिल हैं। चीन की विस्तारवादी महत्वाकांक्षाओ को देखते हुए हमारे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन से समझौते के बाद ठीक ही कहा था कि पैंगोंग झील के आसपास सेनिको को एकदम से नहीं हटाया जायेगा।

 

DDA Housing Scheme 2021: डीडीए फ्लैट्स का ड्रॉ आज, ऑनलाइन ऐसे देखें लाइव

Previous article

24 विभाग मिलकर मजबूत बना रहे मिशन शक्ति: अवनीश अवस्‍थी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.