featured उत्तराखंड राज्य

देहरादूनःविकास प्राधिकरण ने शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त किया

देहरादून प्राधिकरण 2 देहरादूनःविकास प्राधिकरण ने शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त किया

मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण द्वारा सोमवार को अनाधिकृत प्लाटिंग के विरुद्ध दायर बाद संख्या R-0279/2015 में प्राधिकरण उपाध्यक्ष डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव के आदेशानुसार सचिव पी सी दुम्का द्वारा पारित आदेशों के क्रम में कार्यवाही करते हुए शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड, टाफल टावर के निकट राजेश धीमान द्वारा लगभग 12 विघा भूमि पर की गई अवैध गेटेड प्लॉटिंग जिसमे एक चोकीदार के कमरे का अवैध निर्माण भी किया गया था को ध्वस्त कर दिया गया। कार्यवाही गतिमान है।

 

देहरादून प्राधिकरण 2 देहरादूनःविकास प्राधिकरण ने शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त किया
देहरादूनःविकास प्राधिकरण ने शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त किया

 

इसे भी पढ़ें-जानें आईएमए देहरादून का क्या है इतिहास

आपको बता दें कि कास प्राधिकरण ने शिवालिक रेजीडेंसी बीमा बिहार सहस्त्रधारा रोड पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त किया। प्राधिकरण के सहायक अभियंता आनन्द राम, अवर अभियंता हेमंत रावत तथा अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे। एक अन्य प्रकरण में राजपुर रोड़ में आर टी ओ ऑफिस के सामने सिक्का ग्रुप द्वारा प्राधिकरण की भूमि पर अवैध रूप से अपना ऑफिस स्थापित कर दिया था।

 

प्राधिकरण उपाध्यक्ष महोदय द्वारा विधिक कार्यवाही करते हुए अवैध निर्माण को तुरन्त हटाने हेतु 2 दिवस का समय दिया गया अन्यथा की स्थिति में उक्त निर्माण को धवस्त करने के आदेश दिए। जिस क्रम में सचिव प्राधिकरण द्वारा पारित आदेशों के क्रम में आज सिक्का ग्रुप द्वारा स्वयं ही उक्त निर्माण को हटाना शुरु कर दिया गया ।

इसे भी पढ़ेंःदेहरादूनः पुलिस उपाधीक्षकों को तबदला करते हुए वर्तमान स्थान से दूसरे स्थान पर की गई तैनाती

Related posts

शंघाई सहयोग संगठन की शिखर बैठक में भारत-पाक के प्रधानमंत्री मिल सकते हैं

bharatkhabar

Uttarakhand: सीएम पुष्कर सिंह धामी ने ली विधानसभा सदस्यता की शपथ

Rahul

अचानक इराक पहुंचे ट्रंप, बोले अमेरिका दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता

Rani Naqvi