featured देश

INS Surat: दुनिया देखेगी भारत की समुद्री ताकत, आज भारतीय नौसेना को मिलेगा नया विध्वंसक

7826 ins surat INS Surat: दुनिया देखेगी भारत की समुद्री ताकत, आज भारतीय नौसेना को मिलेगा नया विध्वंसक

INS Surat: तीन ओर से समुद्र से घिरा भारत अपनी विशाल समुद्री सीमा की सुरक्षा के लिए लगातार भारतीय नौसेना को मजबूत बना रहा है। हिंद महासागर में चीन की तरफ से बढ़ती चुनौती को देखते हुए भारत नौसेना की ताकत को बढ़ाने में जुटा हुआ है।

ये भी पढ़ें :-

Haryana: दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे पर दर्दनाक हादसा, 5 लोगों की मौत, 12 से अधिक घायल

इसी क्रम में भारतीय नौसेना को एक और ताकतवर युद्धपोत मिलने जा रहा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह आज यानि मंगलवार को मुंबई के मझगांव डाकयार्ड से भारतीय नौसेना को नया विध्वंसक समर्पित करेंगे।

नया विध्वंसक INS Surat
गुजरात का प्रमुख शहर और देश में हीरों के कारोबार के लिए मशहूर सूरत के नाम पर नए विध्वंसक युद्धपोत का नाम आईएनएस सूरत रखा गया है। सूरत नाम रखे जाने से गुजरातियों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। गुजरात सरकार के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने भी ट्वीट कर प्रसन्नता जाहिर की है।

जानकारी के अनुसार, आईएनएस सूरत को देश के पूर्वी तट पर आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में तैनात किया जाएगा। दरअसल सूरत बीते कुछ सालों से कोस्ट गार्ड के लिए पोतों और नौकाओं का निर्माण कर रहा है। इसके अलावा थल सेना के लिए तोपों, सैनिकों के लिए कपड़े समेत विभिन्न प्रकार के सैन्य साजों – सामान का उत्पादन भी हो रहा है।

हालांकि ये कोई पहला मौका नहीं है जब किसी शहर के नाम पर किसी युद्धपोत का नाम रखा गया हो, इससे पहले भी देश के कई शहरों के नाम पर युद्धपोतों का नाम रखा गया है। INS विशाखपट्नम, INS कोलकाता, INS कोच्चि, INS चेन्नई, INS दिल्ली, INS मैसूर, INS मुंबई, INS करवार, INS काकीनाडा, INS कुडालोर, INS कन्नूर, INS कोंकण और INS कोझिकोड इसके उदाहरण हैं।

बेहद ताकतवर होगा INS Surat
7400 टन वजनी आईएनएस सूरत की लंबाई 163 मीटर है। इसकी स्पीड 56 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। इसपर चार इंटरसेप्टर के साथ 50 अधिकारी और 250 नौसैनिक रह सकते हैं। यह एकबार में 7400 किलोमीटर की यात्रा कर सकता है और 45 दिनों तक समुद्र में रह सकता है।

जानकारी के मुताबिक, INS Surat पर बराक-8, ब्रह्मोस, एंटी-सबमरीन रॉकेट लॉन्चर, तोप समेत कई अत्याधुनिक हथियारों के लगाए जाएंगे। इसमें एंटी वारफेयर के लिए 32 बराक-8, ब्रह्मोस मिसाइल तैनात की जा सकती है। वहीं एंटी सरफेस वारफेयर के लिए 16 ब्रह्मोस एंटी शिप मिसाइलें भी तैनात की जा सकती है।

Related posts

रामगोपाल यादव का बयान, लोकसभा चुनाव में SP-BSP में हो रहा है गठबंधन

Ankit Tripathi

मोदी सरकार के आयुष मंत्रालय ने बताया कैसे पैदा करें स्वस्थ बच्चा

Srishti vishwakarma

स्थानांतरण विधेयक और आवासीय विवि संशोधन विधेयक हुआ शीतकालीन सत्र में पारित

Breaking News