featured

कोविड-19 से महाराष्ट्र में स्थिति गंभीर, सरकार लॉकडाउन की तैयारी में

तेजी से पैर पसार रहा कोरोना

देश में कोरोना के मामलें तेजी से बढते जा रहे है, इसकी रोकथाम के लिए किए जा रहे सरकारी प्रयास महज पन्नों की लाइन बन कर रह गए है। जिनका वास्तविकता से कोई लेना देना नहीं है। देश में कोविड-19 के 93,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए है। वहीं 24 घंटे में 513 लोग इस वायरस की वजह से  काल के गाल में समा गए। कई राज्यों में स्थिति और बुरी होती जा रही है, जहा मामले बहुत तेजी से बढ रहे है  महाराष्ट्र में कल 49,000 से ज्यादा मामले सामने आए और छत्तीसगढ़ में 5800 से ज्यादा नए मामले सामने आए जबकि बात अगर दिल्ली की जाए तो वहां भी 3500 से अधिक मामले सामने आए।

टीकाकरण को लेकर सरकार कर रही हर संभव कोशिश 

कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। लेकिन अभी तक 7,59,79,651 लोगो का ही टीके की डोज दी गई है। कोविड-19 जैसी महामारी से बचाव के लिए वैक्सीनेशन ही एक मात्र उपाय है। लेकिन बढते मामलों देखते हुए लोग में असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है, की वैक्सीन लगवाएं या नहीं। हालांकि सरकार इसके लिए हर संभव कोशिश कर रही है कि वैक्सीन को सभी तक पहुंचाया जा सके ताकि इस महामारी पर जल्द से जल्द काबू पाया जा सके।

मध्य प्रदेश सरकार ने अपनी महाऱाष्ट्र की सीमा को किया सील 

महाराष्ट्र और छत्तीसगढ में कोरोना के बिगड़ते हालात देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने अपनी महाराष्ट्र की सीमा सील कर दी है। जम्मू- कश्मीर में भी हालात के बेहतर होने के काई संकेत नजर नहीं आ रहे है, जिसकी वजह से प्रशासन ने कक्षा 9 तक के सभी स्कूल बंद कर दिए है, और 10 वी 12 वी तक कक्षाओँ को दो सप्ताह के लिए बंद करने का फैसला लिया है।

सीएम उध्दव ठाकरे ने लोगों को किया संबोधित 

महाराष्ट्र में कोरोना महामारी से स्थिति बुरी होती नजर आ रही है। गुरुवार को यहां 43,183 नए संक्रमित मामले सामने आए यह और राज्यों की तुलना में एक दिन आए मामले में सबसे ज्यादा है। सीएम उध्दव ने रात 8.30 बजे लोगों को संबोधित किया उन्होंने कहा कोविड की वजह से हालात गंभीर हो रहे है लकिन लॉकडाउन लगाने को लेकर स्थिति अभी स्पष्ट नहीं है।

लॉकडाउन से आर्थिक स्थिति खराब होगी 

उध्दव ठाकरे ने कहा लॉकडाउन कोई हल नहीं है लेकिन वैक्सीनेशन के बावजूद संक्रमण बढ रहा है। मैं आज लॉकडाउन नहीं लगा रहा हूं लेकिन इसकी ओर इशारा कर रहा हूं उन्होंने ये भी कहा अगर अगले दो-तीन दिन में स्थिति नहीं सुधरी तो ठोस कदम उठाए जाएंगे। उध्दव ने कहा मैं जनता को डरा नहीं रहा हूं, बल्कि उसका समाधान तलाशने आया हूं। कोरोना की वजह से पूरे विश्व में आर्थिक जगत पर बुरा असर पड़ा है। यह वायरस हम सभी की धैर्य की परीक्षा ले रहा है। इसलिए हमे एक साथ मिलकर इस महामारी से लड़ना है लॉकडाउन से आर्थिक स्थिति खराब होगी।

आरटी- पीसीआर टेस्ट बढाएंगे 

उध्दव ने कहा हम आरटी- पीसीआर टेस्ट बढा रहे हैं ।आज हम 70 प्रतिशत टेस्ट आरटी-पीसीआर कर रहे है। उन्होंने कहा पिछले मार्च में हमारे पास बेड नहीं थे हॉस्पिटल नहीं मिल रहे थे एंबुलेंस की भी कमी थी इसके बाद हम इसमे सुधार लाने में कामयाब रहे ।आज हमारे पास 3,75,000 बेड की संख्या है यह हमारे लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने ने लोगो से लापरवाही न करने का आग्रह किया और कहा  हम सभी सुविधाए बढा लेंगे लेकिन डॉक्टर और नर्स कहा से लाएंगे ।

वैक्सीनेशन में महाराष्ट्र नंबर 1 

वैक्सीनेशन को लेकर उन्होंने कहा हम 65 लाख लोगो का टीकाकरण कर चुके है। एक दिन में 3 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है, इसे बढाकर 7 लाख किया जाएगा वैक्सीनेशन में महाराष्ट्र नंबर 1 स्टेट है।

Related posts

फास्टटैग में सरकार ने दी 25 फीसद की ढील, अन्य तरीकों से भी होगा भुगतान

Trinath Mishra

सीबीएसई परीक्षाः 9 मार्च से होंगी 10वीं और 12वीं की परीक्षा

Rahul srivastava

अहमदाबाद टेस्ट हुआ ड्रॉ, भारत ने ऑस्ट्रेलिया से लगातार जीती चौथी सीरीज

Rahul