September 27, 2021 8:22 am
featured उत्तराखंड

सीएम रावत ने उत्तराखंड में निवेश के लिए किया गूगल के सीईओ को पत्र लिख कर आमंत्रित

uttrakhand 5 सीएम रावत ने उत्तराखंड में निवेश के लिए किया गूगल के सीईओ को पत्र लिख कर आमंत्रित

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को पत्र लिखकर कंपनी को राज्य में डेटा सेंटर स्थापित करने और निवेश करने के लिए आमंत्रित किया है।

देहरादून। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को पत्र लिखकर कंपनी को राज्य में डेटा सेंटर स्थापित करने और निवेश करने के लिए आमंत्रित किया है। “हम वादा करते हैं कि हमारी सरकार इसे पूरा करने में मदद करेगी,” उन्होंने कहा। सीएम ने कहा कि उत्तराखंड में उच्च साक्षरता दर, कुशल मानव संसाधन की प्रचुरता और अपेक्षाकृत कम प्रदूषण और अपराध है।

बता दें कि सीएम त्रिवेंद्र सिंहरावत ने कहा कि अगर गूगल उत्तराखंड में निवेश करेगा तो उत्तराखंड सरकार गूगल का इस मामले में पूरा सहयोग करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि गूगल के इस कदम से कंपनी को काफी अच्छा वातावरण मिलेगा और कई लोगों को इससे लाभ भई होगा। राज्य में रोजगार के रास्ते खुलेंगे।

https://www.bharatkhabar.com/rajnath-attacked-china-and-pakistan-without-naming/

भारत में 75,000 करोड़ रुपये का करेगा निवेश गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई

वहीं भारत में 13 जुलाई को सुंदर पिचाई ने आने वाले 5 से 7 सालों में 75,000 करोड़ रूपये निवेश करने की घोषणा की थी। जो Google for India Digitisation Fund के रूप में चार प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा।

उत्तराखंड के लिए एक महत्वपूर्ण कदम

सीएम रावत ने कहा कि यह उत्तराखंड के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। अगर ये कोशिश कामयाब होती है तो ये उत्तराखंड के लिए खुशी की बात होगी। इस कदम से कई लोगों को उनके राज्य में ही रोजगार मिलने लगेगा और वो अपना राज्य छोड़कर कहीं ओर रोजगार की तलाश में जाने से बच जाएंगे। उत्तराखंड के काफी लोग आईटी सेक्टर में कार्यरत है, अपने ही राज्य में नौकरी मिलने से पलायन को रोकने में सरकार को काफी मदद मिलेगी।

Related posts

सुरक्षा कारणों का हवाला देकर राहुल की चुनावी यात्रा 23 तक टली

bharatkhabar

मां वैष्णो देवी के भक्तों के लिए खुशख़बरी, जल्द खुलने वाले हैं कपाट, गाइडलाइंस भी जारी

Rani Naqvi

तमिलनाडु सरकार पर खतरा टला, 18 विधायकों की योग्यता पर जजों की एक राय नहीं बनी

Rani Naqvi