featured दुनिया

लाशों से पट गईं चीन की सड़के, चीन के जुर्म की सबसे घटिया दांस्तान..

cheen 1 लाशों से पट गईं चीन की सड़के, चीन के जुर्म की सबसे घटिया दांस्तान..

दुनियाभर में आलोचना हो रही है। इसके साथ ही चीन की भारत और अमेरिकी से भी नहीं बन रही है। महासागर में जापान चीन की नापक हरकतों को रोकने के लिए लगातार टक्कर दे रहा है। इतना सब कुछ हो जान के बाद भी चीन अपनी मनमानी दिखाने से बाज नहीं आ रहा है । हांगकांग में जिस तरह से चीन की मनमनी देखने को मिल रही है। उसने सबको हैरान कर दिया है। चीन हांगकांग की लोकतंत्र आवाज को दबाना चाहता है। इसलि वो उन्हें रोकने के लिए एड़ी से लेकर चोटी तक का जोर लगा रहा है।

chain 1 लाशों से पट गईं चीन की सड़के, चीन के जुर्म की सबसे घटिया दांस्तान..
चीन की इसी हरकत को देखकर चीन का वो हैवान भरा चेहरा लोगों के सामने आने लगा है। जब चीन ने 10 हजार लोगों को एक साथ मौत के घाट उतार दिया था।31 साल पहले चीन की राजधानी पेइचिंग के थियानमेन चौक पर जून 1989 में लोकतंत्र समर्थकों ने सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन किया था। विरोध को दबाने के लिए चीनी सरकार के आदेश पर हुई सैन्य कार्रवाई में 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। दो साल पहले सार्वजनिक हुए ब्रिटिश खुफिया राजनयिक दस्तावेज में इस घटना का पूरा ब्योरा दर्ज है।

चीन में पोस्टेड तत्कालीन ब्रिटिश राजदूत एलन डोनाल्ड ने लंदन भेजे गए पत्र में लिखा था कि इस घटना में कम से कम 10 हजार लोगों की मौत हुई थी। इस पत्र को ब्रिटेन के नेशनल आर्काइव्ज में रखा गया है। चीन में उस समय इस घटना की रिपोर्टिंग को भी चीन से बड़े पैमाने पर सेंसर कर दिया था। इस घटना की रिपोर्टिंग पर चीन में आज भी कड़े प्रतिबंध हैं।

जून 1989 में पेइचिंग के थियानमेन चौक पर लाखों की संख्या में लोकतंत्र समर्थकआंदोलनकारी इकठ्ठा हुए थे। इसमें बड़ी संख्या में छात्र और मजदूर भी शामिल थे। ये विरोध प्रदर्शन कम्यूनिस्ट पार्टी के पूर्व महासचिव और सुधारवादी हू याओबांग की मौत के बाद शुरू हुए थे। हू याओबांग को चीन की तत्कालीन सरकार ने राजनीतिक और आर्थिक नीतियों में विरोध के कारण पद से हटा दिया था। जिसके बाद उनकी हत्या कर दी गई थी।

रिपोर्ट में बताया जाता है कि, उस दौरान सड़कों पर लाशे बिखरी पड़ी थीं। वो मंजर वाकई में बेहद दर्दनाक के साथ बेहद खौंफनाक है।

https://www.bharatkhabar.com/elephants-child-won-the-heart-of-humans-did-such-a-thing/
आपको जानकर हैरानी होगी कि, चीन ने पेइचिंग के ऐतिहासिक थियानमेन चौक नरसंहार को पूरी तरह से सही करार दिया है। जो कि अपने आप में बेहद चौंकाने वाला है।

Related posts

ग्रेटर नोएडा में बनेंगे 100 इलेक्ट्रॉनिक वाहन चार्जिंग स्टेशन, 2 हफ्ते में पूरा होगा काम

Neetu Rajbhar

लगातार पांचवे दिन कम हुए पेट्रोल-डीजल के दाम, आम आदमी को राहत

Ankit Tripathi

राष्ट्रपति के दौरे के बाद योगी मंत्रिमण्डल विस्तार के आसार

Shailendra Singh