featured दुनिया साइन्स-टेक्नोलॉजी

चीन का अंतरिक्ष केंद्र स्थापित करने का मिशन स्‍थगित, जानिए वजह   

चीन का अंतरिक्ष केंद्र स्थापित करने का मिशन स्‍थगित, जानिए वजह   

लखनऊ: चीन का अपने नए अंतरिक्ष केंद्र के निर्माण के लिए सामान की आपूर्ति करने का मिशन अभी पूरा नहीं होगा। क्‍योंकि, तकनीकी कारणों से उसने मिशन स्‍थगित कर दिया है।

दरअसल, 20 मई को चीन के अंतरिक्ष यान तियानझोउ-2 को रवाना होना था, लेकिन वेबसाइट पर इस मानव मिशन की देरी की सूचना दी गई। वेबसाइट पर तो यह भी जानकारी नहीं दी गई कि इस यान को अब कब रवाना किया जाएगा।

मुख्य मॉड्यूल तियान्हे 29 अप्रैल का रवाना

आपको बता दें कि 29 अप्रैल को चीन ने अंतरिक्ष केंद्र स्थापित करने के लिए मुख्य मॉड्यूल तियान्हे को रवाना किया गया था। इस साल के अंत तक अंतरिक्ष केंद्र में दो और मॉड्यूल, विभिन्न हिस्से और तीन अंतरिक्ष यात्रियों के लिए 11 मिशन की योजना है।

गौरतलब है कि इससे पहले महीने की शुरुआत में चीन का खोजी अभियान तियानवेन-1 रोवर झुरोंग के साथ मंगल की सतह पर उतरा था। अब उसने लाल ग्रह की सतह से तस्वीरें भेजनी शुरू कर दी हैं।

नासा ने चीन को दी बधाई

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने 19 मई को अपनी वेबसाइट पर एक संदेश पोस्ट किया था। इसमें एजेंसी के प्रशासक बिल नेल्सन ने चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन को तस्वीर प्राप्त करने पर बधाई दी थी। बता दें कि अमेरिका और चीन के अंतरिक्ष कार्यक्रमों के बीच छिटपुट ही संपर्क हो पाता है।

नेल्सन ने बधाई देते हुए कहा, “अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक समुदाय का मंगल पर रोबोटिक खोज के लिए विस्तार हुआ है। अमेरिका और दुनिया झुरोंग की खोजों को आगे देख रही है, जो लाल ग्रह के बारे में मानव ज्ञान को बढ़ाएगा। मैं भविष्य की खोजों को देखता हूं, जो मंगल ग्रह पर मानव के उतरने की क्षमता के विकास एवं अन्य सूचनाएं देने में मदद करेंगी।”

Related posts

राज्य निर्वाचन आयोग ने दिए निष्पक्षता एवं पारदर्शिता से चुनाव संपन्न कराने के दिशा-निर्देश, प्रशिक्षण के लिए मतदान दलों को किया रवाना

Aman Sharma

ढाका हमले में हमारा कोई हाथ नहीं: पाकिस्तान

bharatkhabar

महाशिव रात्रि 2020: कल पूरे देश में मनाई जाएगी महाशिव रात्री, जाने क्यों मनाई जाता है ये पर्व

Rani Naqvi