featured मध्यप्रदेश

महंगाई, महिला उत्त्पीड़न समते कई मुद्दों को लेकर भीम आर्मी ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को सौपा ज्ञापन

महंगाई, महिला उत्त्पीड़न समते कई मुद्दों को लेकर भीम आर्मी ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को सौपा ज्ञापन

मध्य प्रदेश में भीम आर्मी ने बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, महिला उत्त्पीडन को लेकर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन। सौपा है। भीम आर्मी ने भारत एकता मिशन द्वारा प्रमुख मुद्दों की और ध्यान आकर्षित करवाया गया हैं। ज्ञापन में विभिन्न मुद्दों को शामिल किया है। कोरोना वायरस के प्रकोप से बंद हुए कक्षा 1 से पांच तक के स्कूल को फुर से खोलने को भी कहा गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि महंगाई शासन ने हर क्षेत्र में महंगाई इतनी बढ़ा दी है। जिसमें बिजली बिल पेट्रोल डीजल रसोई गैस और अन्य खाद्यान्न के वस्तुएं इनके भाव तुरंत कम किया जाए।

 

बता दें कि भीम आर्मी ने ज्ञापन में लिखा कि भारत में बेरोजगारी चरम पर है सरकार को बेरोजगारी के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए। सरकारी और निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया जाए। वहीं भारत में पिछले कुछ समय से बलात्कार एवं महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ गई हैं, बलात्कार जैसी घटना पर फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जाए, और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने के कानून बनाया जाए। भ्रष्टाचार हर विभाग में चरम पर है ऐसे भ्रष्टाचारियों की जांच कर उन्हें सख्त सजा दिलाई जाए।
वहीं देश में आए दिन अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लोगों पर अत्याचार लिंचिंग जैसी घटनाएं बढ़ रही है। जो इंसानियत को शर्मसार करती हैं, ऐसे मामलों में दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। भारत में अनुसूचित जाति जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग बहुसंख्यक है, लेकिन यह आर्थिक रूप से कमजोर है इनकी जातिगत जनगणना करवाई जाए ताकि इनके गरीबी एवं पिछड़ेपन को ध्यान में रखकर योजनाएं बनाई जा सके

Capture 19 महंगाई, महिला उत्त्पीड़न समते कई मुद्दों को लेकर भीम आर्मी ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को सौपा ज्ञापन

भारत सरकार ने 3 नए कृषि कानून लागू किए हैं जो कि किसानों के हित में नहीं है इन कानूनों से किसान बंधुआ मजदूर बनकर रह जाएगा। अपनी फसल का उचित दाम और इसमें मिनिमम समर्थन मूल्य की कोई गारंटी नहीं दी गई है, भंडारण के लिए कोई कानूनी कार्रवाई और दिशा निर्देश नहीं दिए गए हैं, इन कानूनों को रद्द किया जाए. इस मौके पर भीम आर्मी भारत एकता मिशन विधानसभा प्रभारी और कार्यकर्ता पदाधिकारी मौजूद रहे।

Related posts

ब्लैकमनी घोषित कर पाएं सुख की नींद: जेटली

bharatkhabar

महाराष्ट्र में बड़ा हादसा, समृद्धि एक्सप्रेसवे पर मिनी बस की कंटेनर ट्रक से भिड़ंत, 12 लोगों की मौत, कई घायल

Rahul

अल्मोड़ा: बेरोजगारी की मार, करीब 17,500 प्रवासी बेरोजगार होकर लौटे

pratiyush chaubey