featured Life Style लाइफस्टाइल

Women’s Day: शादी के बाद महिलाओं को नहीं करनी चाहिए ये गलतियां, बाद में होता है बेहद अफसोस

relationship 2 Women's Day: शादी के बाद महिलाओं को नहीं करनी चाहिए ये गलतियां, बाद में होता है बेहद अफसोस

आज पूरा विश्व अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (Women’s Day) मना रहा है। दरअसल 1917 में रूस ने महिलाओं ने फरवरी के आखिरी रविवार को पीस और ब्रेड के विरोध में हड़ताल शुरू कर दी थी। महिलाओं की हड़ताल से वहां के सम्राट निकोलस को पद छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। और अंतरिम सरकार ने महिलाओं को मतदान का अधिकार दिया। उस दिन 23 फरवरी थी लेकिन ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक यह तारीख 8 मार्च थी।

आज के समय में महिलाओं ने यह साबित करके दिखा दिया है कि वह हर क्षेत्र में अपना नाम कमाने के लिए सक्षम और पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है। हालांकि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को करियर और निजी जिंदगी में सामंजस्य स्थापित करना काफी मुश्किल है। वही यह मुश्किल है शादी के बाद और भी संघर्ष पूर्ण हो जाती हैं। लेकिन एक नई जिंदगी को शुरू करने से पहले कुछ बातों को ध्यान रखा जाए तो परेशानियां काफी हद तक कम की जा सकती है। तो आइए जानते हैं कि ऐसी कौन सी गलती हैं जिन्हें महिलाओं को शादी की शुरुआत से ही बचना चाहिए 

सेहत पर ध्यान ना रखना 

अक्सर महिलाएं शादी के बाद अपनी सेहत पर खास ध्यान नहीं देती और वह दिन प्रतिदिन कमजोर होने लगती हैं। उनका वजन तेजी से बढ़ता है। ऐसे में आपको हमेशा अपनी सेहत का खास ध्यान रखना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो एक समय ऐसा आएगा जब आपका स्वास्थ्य आप का साथ देना बंद कर देगा। तब आपको एहसास होगा कि काश पहले ही सेहत पर ध्यान दिया होता तो आज ये स्थिति नहीं होती। ऐसे में फिट रहने के लिए अपनी डाइट पर खास ध्यान दें और थोड़ी बहुत एक्सोसाइज जरूर करें।

सही ढंग से अपनी बात ना रख पाना

अगर आपको लगता है कि आपके पति और परिवार वाले आपकी बात को नहीं सुन रहे। तो आपको अपनी बात समझाने व सुनाने के लिए नए तरीके अपनाने चाहिए। अपनी बात उन तक पहुंचाने के लिए बार-बार एक ही तरीके का उपयोग ना करें। क्योंकि हो सकता है कि जैसा आप समझाना चाह रहे हैं वह समझना ही ना चाहे और कई बार ऐसा भी होता है कि समझाने वाले को ही नहीं पता होता कि मुझे समझाना क्या है? तो पहले अपनी बातों को खुद समझे और अपनी कम्युनिकेशन स्किल में सुधार लाएं ताकि आसानी से आपकी बात उन लोगों तक पहुंच सके।

अपेक्षा एवं उम्मीदों को छुपाना

अक्सर महिलाएं शादी के बाद अपने पति व परिवारों से अपनी अपेक्षाओं का उम्मीदों के बारे में खुलकर बात नहीं कर पाती। जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ता है। ऐसे भी शादी से पहले या फिर शादी के तुरंत बाद अपने पार्टनर के साथ अपनी आकांक्षा और उम्मीदों को साझा करना चाहिए। जिससे उन्हें आप को समझने में आसानी होगी और आप भी अपनी आकांक्षाओं और उम्मीदों के साथ जीवन निर्वाह कर सकेंगे।

अपनी खुशियों को अहमियत ना देना

शादी के बाद एक महिला अपने घर परिवार पति बच्चों को खुश करने में लग जाती है। उनकी हर एक चीज का ध्यान रखती है। लेकिन कहीं ना कहीं वह परिवारिक जिम्मेदारियों के चलते अपनी निजी जिंदगी को भूल जाती हैं। और उन्हें इतना भी याद नहीं रहता कि आखिर उनकी पसंद क्या है और ना पसंद क्या? जिससे उनमें चिड़चिड़ा हट गुस्सा बढ़ जाता है और यह चिड़चिड़ा हट और गुस्सा महिलाओं को मानसिक तनाव की ओर धकेल देता है ऐसे में हमेशा परिवार की खुशियों के साथ अपनी खुशियों को भी अहमियत देना बेहद जरूरी है क्योंकि अगर मन खुश है तो शरीर भी स्वस्थ रहेगा।

सेक्स लाइफ को प्राथमिकता न देना

अक्सर शादीशुदा लोगों में देखा जाता है कि महिलाएं सेक्स के लिए पर्याप्त समय नहीं निकाल पाती। जो शादी के बाद सबसे बड़ी गलती है सेक्सुअल लाइफ को हेल्दी रखने के लिए पति और पत्नी को अपने रिलेशन को अच्छा रखना चाहिए जिससे आपका मूड हमेशा ठीक रहता है इसीलिए महिलाओं को अपने पति के संग प्यार करने के लिए पर्याप्त समय निकालना चाहिए।

Related posts

अमर जवान ज्योति पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने जवानों को दी श्रद्धाजंलि

Vijay Shrer

सीएम रावत ने किया जल संचय, संरक्षण-संवर्धन अभियान का शुभारम्भ

lucknow bureua

बरेली: मास्क नहीं पहनने पर युवक को मारी गोली

Shailendra Singh