featured पर्यटन यूपी

पानी की कमी पड़ेगी ताजमहल पर भारी, मेयर ने जताई चिंता

पानी की कमी पड़ेगी ताजमहल पर भारी, मेयर ने जताई चिंता

आगरा: ताजमहल उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे विश्व की धरोहर है। ऐसे में इसके रख-रखाव और सुंदरता को बरकरार रखना भी हमारी जिम्मेदारी है। इसी विषय में जानकारी देते हुए, आगरा के मेयर नवीन जैन ने चिंता जताई। एएनआई को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि हमें इस धरोहर की बिगड़ती सुंदरता की चिंता है। बिल्डिंग के चारों ओर पानी की पर्याप्त मात्रा न होने के कारण कई दिक्कतें आ सकती हैं।

आसपास का बहता पानी भवन के लिए जरूरी

ताजमहल के आसपास पानी की मात्रा का होना, इसकी जड़ें मजबूत किए रखता है। अगर पानी नहीं होगा तो कई तरह की समस्याओं का दौर शुरु हो जाएगा। पानी न होने की दशा में बिल्डिंग पर शैवाल और कीड़े-मकोड़ों का हमला भी शुरु हो जाता है। जो धीरे-धीरे इसकी मजबूती और सुंदरता पर बड़ा असर डालता है। इसीलिए आसपास पानी का होना ताजमहल के लिए काफी आवश्यक है।

90 रनल(runnel) में से 29 का पानी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का उपयोग करके फ़िल्टर किया जा रहा है। इस प्रक्रिया के बाद यह पानी नदी में भेजा जाता है। बचे हुए सभी रनल अभी भी सुविधाओं के इंजतार में हैं। मेयर ने अधिक जानकारी देते हुए कहा कि पानी को फिल्टर करने के लिए वैकल्पिक रसायन इस्तेमाल में लाया जाता है।

अक्सर उठते हैं ताजमहल की व्यवस्था पर सवाल

यह पहली बार नहीं है, जब ताजमहल की सुंदरता पर चिंता जताई जा रही है। इसके पहले भी कई बार अलग-अलग मुद्दों को आधार बनाकर इस विषय पर बात की गई। अभी कुछ दिन पहले ही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आसपास चलने वाली गोल्फ कार्टस् से जुड़े मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी।

कोर्ट ने कहा कि सिर्फ उन्हीं कार्टस् को चलने की इजाजत दी जाए, जिन्हें अधिकृत किया गया है। वातावरण के प्रदूषण का ताजमहल की सुंदरता पर बुरा असर पड़ता है। पत्थर आसपास की प्रदूषित हवा से खराब हो रहे हैं। इसकी कम होती सफेदी से यह असर साफ देखा जा सकता है।

Related posts

संजय दत्त की बेटी की तस्वीरों को देख, मां ने दिया ऐसा रिएक्शन

mohini kushwaha

ब्रज के मंदिरों का अनूठा फरमान, कोरोना वैक्सीन लगाओ तभी दर्शन देंगे भगवान

Pradeep Tiwari

Exclusive: बाबा राम-रहीम की रहस्यमयी गुफा का देखें पूरा सच इस वायरल वीडियो में

piyush shukla