September 28, 2022 11:29 am
featured यूपी

मथुराः विधवा आश्रम की महिलाओं ने पीएम मोदी को भेजी राखी, जानिए खासियत

मथुराः विधवा आश्रम की महिलाओं ने पीएम मोदी को भेजी राखी, जानिए खासियत

मथुराः कल यानी 22 अगस्त को पूरा देश रक्षाबंधन का त्यौहार मना रहा है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को रखियां भेजने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मथुरा के वृंदावन आश्रम की रहने वाली विधवा महिलाओं ने रक्षाबंधन के अवसर पर प्रधानमंत्री को राखी भेजी है।

बता दें कि ज्यादातर कुछ महिलाएं राखी बांधने के लिए प्रधानमंत्री आवास पर जाती थीं, लेकिन इस बार कोरोना की वजह से वे पीएम मोदी के हाथों में राखी नहीं बांध पाएंगी। ऐसे में शनिवार को उनकी बनाई गई राखियां प्रधानमंत्री कार्यालय भेज दी गईं हैं।

तैयार की गईं 251 राखियां

दरअसल, परिक्रम मार्ग पर मौजूद मां शारदा विधवा आश्रम की दर्जनों महिलाओं ने इस बार पीएम मोदी को राखियां भेजी हैं। ये महिलाएं प्रत्येक वर्ष अपने हाथों से पीएम मोदी के लिए राखियां बनाती हैं। साथ ही अपनी रक्षा का वचन मांगती हैं। इस बार इन्होंने 251 राखियां तैयार की है। इन राखियों को 3 दिन में 50 महिलाओं ने मिलकर तैयार किया है।

इस बार की भेजी गईं राखियां बेहद की खास है। इन राखियों पर पीएम मोदी की फोटो लगी हुई है। साथ ही इसमें रेशम का धागा लगाया गया है, जिससे राखियों की खूबसूरती और भी निखर रही है।

इस बार अपने हाथ से नहीं बांध पायेंगी राखी

सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ऑर्गेनाइजेशन की पदाधिकारी विनीता वर्मा ने बताया कि ये विधवा माताएं अपने हाथ से राखी बनाकर प्रधानमंत्री के लिए लेकर जाती थी और अपने हाथों से उन्हें बांधती थीं, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते पीएम के हाथ में राखियां नहीं बांध पायेंगी।

राखियों के साथ भेजे गए मास्क

विनीता वर्मा ने बताया कि इस बार विधवा महिलाओं द्वारा तैयार की गई राखियां प्रधानमंत्री आवास पर सीधे भेज दी गई हैं। इस बार राखियों के साथ मास्क भी भेजे गए हैं, जिन पर भगवान श्रीकृष्ण की अति प्रिय मुरली की आकृति बनी हुई है।

Related posts

2 दिवसीय ‘आम महोत्सव’ का सीएम योगी ने किया उद्घाटन, कहा- आम उत्पादन में प्रदेश बने नंबर वन

Ankit Tripathi

फिल्म पानीपत देखने में विद्यार्थियों की उत्सुकता ज्यादा

Rani Naqvi

भाजपा सांसद का विवादित बयानः हर आतंकी मुस्लिम क्यों होता है?

Rahul srivastava