featured Breaking News उत्तराखंड देश

एक दिन की उत्तराखंड सीएम सृष्टि पहुंची विधानसभा, प्रोटोकल मंत्री ने किया स्वागत

WhatsApp Image 2021 01 24 at 1.16.08 PM एक दिन की उत्तराखंड सीएम सृष्टि पहुंची विधानसभा, प्रोटोकल मंत्री ने किया स्वागत

देहरादून। उत्तराखंड सरकार द्वारा हर तीसरे साल में एक बार बाल विधानसभा आयोजित की जाती है। जिसके चलते इस बाल विधानसभा में एक बाल मुख्यमंत्री का चयन किया जाता है। इस बार उत्तराखंड विधानसभा का आयोजन गैरसैंण में किया जा रहा है। जिसके चलते इस बार बाल विधानसभा में मुख्यमंत्री सृष्टि गोस्वामी को बनाया गया है। सृष्टि गोस्वामी विधानसभा पहुंच गई हैं। जिसके चलते प्रोटोकल मंत्री धन सिंह रावत ने उनका स्वागत किया। इसके साथ ही आज सृष्टि करीब दर्जनभर विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी।

सृष्टि दोपहर 3 बजे करेंगी बालिका निकेतन का निरीक्षण-

बता दें कि 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाया जाता है। जिसके चलते इस मौके पर इस बार हरिद्वार की सृष्टि गोस्वामी एक दिन के लिए उत्तराखंड की मुख्यमंत्री बनेंगी। सृष्टि उत्तराखंड की समर कैपिटल गैरसैंण से शासन करेंगी और त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार की तमाम योजनाओं की समीक्षा करेंगी। इसके साथ ही बता दें कि कार्यक्रम में सभी शीर्ष अधिकारियों की मौजूदगी सुनिश्चित करने के लिए उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मुख्य सचिव को एक पत्र लिखा है। आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने कहा है कि कार्यक्रम राज्य विधान सभा भवन में दोपहर 12 से 3 बजे तक होगा। नेगी ने कहा कि आयोग ने बाल सभा का गठन किया है। इसके बाद दोपहर 3 बजे बालिका निकेतन का निरीक्षण करेंगी। साथ ही यहीं बालिकाओं के साथ दोपहर का भोजन होगा। जिसके बाद शाम साढ़े चार बजे हरिद्वार के लिए प्रस्थान करेंगी।

बाल सभा के कानून निर्माता के रूप में भी चुनी गई सृष्टि-

इसके साथ ही बता दें कि सृष्टि गोस्वामी को इससे पहले उत्तराखंड में बाल सभा के कानून निर्माता के रूप में चुना गया था। इसके साथ ही सृष्टि के पिता प्रवीण पुरी ने बताया कि सृष्टि बहुत ही होनहार बच्ची है। वह हर जगह छात्राओं के उत्थान के लिए काम करना चाहती हैं। वह एक सामाजिक संगठन का हिस्सा भी हैं जो लड़कियों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित करता है।

Related posts

क्या गलती सिर्फ त्रिवेंद्र रावत की है

Breaking News

राष्‍ट्रपति ने भारतीय वायु सेना (गरुड़) के सार्जेंट शशिधर पी प्रसाद को वायु सेना पुरस्‍कार दिया

mahesh yadav

फिर शुरू हुआ पठन-पाठन, खुल गए स्कूल

Aditya Mishra