September 24, 2021 12:40 pm
यूपी

वेबसाइट हैक करने का मामलाः निर्वाचन आयोग ने दी नई जानकारी, वेबसाइट से नहीं हुई कोई छेड़छाड़

download 1 वेबसाइट हैक करने का मामलाः निर्वाचन आयोग ने दी नई जानकारी, वेबसाइट से नहीं हुई कोई छेड़छाड़

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट को हैक करने के मामले में एक नया मोड़ सामने आया है। जिसमें निर्वाचन आयोग ने ये जानकरी दी है कि हैकर द्वारा आयोग की वेबसाइट से किसी भी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है।

गिरफ़्तारी के बाद हुआ खुलासा

आरोपी की गिरफ़्तारी के बाद साइबर टीम जांच में जुट गई और आरोपी से पूछताछ करने लगी । पूछताछ और जांच में यह पाया गया कि निर्वाचन आयोग का डाटा पूरी तरह सुरक्षित है। उसमें किसी भी तरह की कोई भी छेड़छाड़ नहीं हुई है। निर्वाचन आयोग के एक प्रवक्ता ने दिल्ली में कहा कि सहायक मतदाता सूची अधिकारी (एईआरओ) नागरिकों को सेवा प्रदान करते हैं और मतदाता पहचान पत्र की प्रिंटिंग और समय पर वितरण की जिम्मेदारी उनकी होती है। प्रवक्ता ने कहा कि एईआरओ कार्यालय के एक डाटा एंट्री ऑपरेटर ने अवैध रूप से अपना आईडी एवं पासवर्ड सहारनपुर के नकुड़ में एक निजी अनधिकृत सेवा प्रदाता को दी, ताकि वह कुछ वोटर कार्ड छाप सके। प्रवक्ता ने कहा कि दोनों व्यक्ति गिरफ्तार हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग का डाटाबेस पूरी तरह सुरक्षित है।

 

ये था मामला

गौरतलब है कि सहारनपुर से एक मामला सामने आया था। जहां पर एक युवक ने भारत निर्वाचन आयोग की साइट को हैक कर 10 हजार तक फर्जी वोटर आईडी बना डाली थी। आरोपी विपुल सैनी ने बताया था कि वह मध्य प्रदेश के रहने वाले अपने एक दोस्त अरमान मलिक के कहने पर उसने आयोग की वेबसाइट को हैक कर वोटर आईडी कार्ड बनाए। वह पिछले 3 महीने से भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट में घुसपैठ कर रहा था। साइबर सेल का दावा है कि इसने 10 हजार वोटर आईडी कार्ड बनाए हैं। जिसके बाद उसके बैंक खाते से 60 लाख रूपए भी बरामद हुए थे।

 

 

 

Related posts

यूपी पुलिस की नेकी, बुजुर्ग मां को 4-4 माह रोटी-कपड़ा देंगे बेटे

Anuradha Singh

राशन की दुकान का प्रस्ताव करने पर भड़के ग्रामीण

kumari ashu

UP: पंचायत चुनाव से पहले बीजेपी को झटका, डॉ. प्रियंवदा सिंह का पार्टी से इस्तीफा

Shailendra Singh