featured यूपी

Holi 2021: इस बार कम होगी सीटों की मारामारी, इन ट्रेनों में कराएं रिजर्वेशन

Holi 2021: इस बार कम होगी सीटों की मारामारी, इन ट्रेनों में कराएं रिजर्वेशन

लखनऊ: आगामी 29 मार्च को होली का पावन पर्व मनाया जाएगा। ऐसे में अगर आप अपने घर, शहर जाने के लिए ट्रेन का सफर करने वाले हैं तो आपके लिए खुशखबरी है।

दरअसल, 29 मार्च को दिल्ली, मुंबई और बिहार जाना आसान होगा, लेकिन वापसी थोड़ी मुश्किल, क्‍योंकि वापसी में तकरीबन सारी ट्रेन फुल हैं। हाल ये है कि मुंबई से लखनऊ आने वाली ट्रेनों में 31 मार्च तक सीटें खाली हैं, जबकि वापसी में ट्रेनों की सीटें फुल हैं। ऐसे में होली के बाद वापसी में होली स्पेशन ट्रेनें लोगों का सहारा बनेंगी।

मुंबई में क्या हैं हालात?

लखनऊ से मुंबई जाने और आने वाली ट्रेनों में पुष्पक एक्सप्रेस, कुशीनगर, गोरखपुर एलटीटी और लखनऊ एसी स्पेशल में 31 मार्च तक सीटें खाली हैं, लेकिन एक-दो ट्रेन में वेटिंग बहुत कम है। वहीं, होली बाद एक अप्रैल से दोनों दिशाओं में आवागमन करने वाली मुंबई की ट्रेनों में वेटिंग का टिकट 100 से ऊपर पहुंच गया है।

दिल्ली व बिहार की ट्रेन में सीटें खाली

आपको लखनऊ से दिल्ली जाना हो या आना हो तो शताब्दी, लखनऊ मेल, तेजस, एसी स्पेशल ट्रेनों में सीटें खाली हैं। वहीं बिहार की ट्रेनों में दिल्ली-मुजफ्फरपुर, कोटा-पटना, अवध-असम में भी 31 मार्च तक अभी कंफर्म सीटें मिल रही हैं। लखनऊ से दिल्ली या बिहार जाने के लिए आलमबाग बस टर्मिनल से संचालित होने वाली बसें और मुंबई की ट्रेनें फुल होने पर फ्लाइट ही यात्रियों के सामने एक मात्र विकल्प होगा।

यात्रियों का सहारा बनेंगी होली स्पेशल ट्रेनें

उत्तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार सिंह ने बताया कि होली पर स्पेशल ट्रेनें प्रस्तावित हैं। ऐसे में यात्रियों की भीड़ बढ़ने की संभावना को देखते हुए ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसमें नई दिल्ली-बरौनी, बठिंडा-वाराणसी, लखनऊ-नांगल डैम, वाराणसी-कटरा, वाराणसी-नई दिल्ली, लखनऊ-आनंद विहार, गोरखपुर-चंडीगढ़, बरौनी-अजमेर शामिल हैं।

कोरोना संक्रमण से रहें सावधान

कोरोना का संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में आप यात्रा करें और त्यौहारों का लुत्फ भी उठाएं, लेकिन सावधानी का भी ख्याल रखें। आप मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनेटाइजेशन का भी ख्याल रखें। यात्रा के दौरान हाथों को बार-बार सैनेटाइज करते रहें। याद रखें कि कोरोना का टीका जरूर आ गया है, लेकिन सावधानी भी बेहद जरूरी है।

Related posts

कर्नाटक: सोमवार तक कार्यवाही स्थगित, राज्यपाल के आदेश का दो बार हो चुका उलंघन

bharatkhabar

कार्तिक पूर्णिमाः धार्मिक कार्य करने से होती है सौ गुना फलों की प्राप्ति, जानें गुरु पर्व और देव दीपावली के बारे में सब कुछ

mahesh yadav

आगरा में सामने आई जिला प्रशासन की बड़ी लापरवाही, शक्ल दिखाए बिना दूसरे परिवार से करा जिया शव का अंतिम संस्कार

Rani Naqvi