September 23, 2021 11:05 am
featured जम्मू - कश्मीर

धरती पर सुनामी के साथ तबाही मचाने आ रहा सबसे खतरनाक उल्का पिंड..

ulka 1 2 धरती पर सुनामी के साथ तबाही मचाने आ रहा सबसे खतरनाक उल्का पिंड..

उल्का पिंडों को लेकर वैज्ञानिक अकसर कई सारे खुलासे करते रहते हैं। उल्का पिंड सिर्फ विनाशकारी ही नहीं होते है। बल्कि उल्का पिंड बेहद कीमती भी होते हैं। यही कारण है जब भी कोई उल्का पिंड धरती से टकराने वाला होता है तो वैज्ञानिक इसकी जानकारी लोगों तक पहुंचाते हैं। ऐसे ही एक खतरनाक उल्का पिंड को लेकर वैज्ञानिकों ने बड़ा खुलासा किया है।

ulka 1 4 धरती पर सुनामी के साथ तबाही मचाने आ रहा सबसे खतरनाक उल्का पिंड..
जिसके धरती से टकराने से अटलांटिक महासागर में 400 फीट की सुनामी की लहरें अमेरिका के तट पर तबाही मचा सकती हैं। यह है Asteroid 29075 1950। यह उल्का पिंड एक किलोमीटर चौड़ा है।यह एक NEO श्रेणी का उल्का पिंड है और धरती के बेहद करीब है। नासा इस तरह के खतरनाक उल्का पिंडो पर नजर रखते हैं।

अभी तक के अनुमान के मुताबिक यह उल्का पिंड16 मार्च, 2880 में धरती के इतने करीब आएगा कि टक्कर की संभावना पैदा होगी। हालांकि, इसकी संभावना बेहद कम है लेकिन इतिहास में इतने विशाल उल्का की टक्कर धरती से हुई है जिसके भयावह नतीजे भी हुए हैं।
इसलिए वैज्ञानिक इसे स्टडी कर रहे हैं। वहीं, उल्का पिंड के रास्ते पर कई कारणों से फर्क भी पड़ सकता है। सूरज की गर्मी से इनके जलने पर निकलने वाली ऊर्जा एक थ्रस्ट की तरह काम करती है जो इनके रास्ते को बदल सकती है। ऑर्बिटल मकैनिक्स के सिद्धांतों की मदद से वैज्ञानिकों के लिए यह पता लगाना मुमकिन हो जाता है कि उल्का पिंड कब पृथ्वी के पास से गुजरेगा।

वैज्ञानिकों का कहना है कि, अगर यह उल्का पिंड वाकई में धरती से टकराता है तो हो सकता है कि यह किसी महासागर में आ गिरे क्योंकि पृथ्वी का बड़ा हिस्सा पानी ही है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सैंटा क्रूज के वैज्ञानिकों ने इस टक्कर का मॉडल तैयार किया है। उनके मुताबिक अगर यह उल्का पिंड अटलांटिक महासागर में गिरा तो 400 फीट ऊंची सुनामी की लहरें पैदा हो सकती हैं। संस्थान के रिसर्चर स्टीवन वॉर्ड ने इस बारे में बताया था कि डायनोसॉर्स के निशान को धरती से खत्म करने वाले उल्का पिंड की टक्कर के बाद से 1950 DA जैसे उल्का पिंड कम से कम 600 बार धरती पर आ चुके हैं।

https://www.bharatkhabar.com/supreme-court-fire-on-central-government-tabligi-jamat/

हालिक इन उल्का पिंडों ने कम ही तबाही मचाई हा। लेकिन जब भी ये उल्का पिंड धरती से टकरा हैं। तब-तब इनसे भयंकर तबाही मची है।

Related posts

आवारा पशुओं से जल्द मिलेगी राहत, एसडीएमसी ने शुरू किया गौशाला पहुंचाने का अभियान

Rani Naqvi

प्रयागराज के लिए यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने एक साथ की बैठक, जानिए निहितार्थ

Aditya Mishra

भाजपा के खिलाफ भरतपुर से वायरल हो रहा ये वीडियो, देखिए लगे कितने गंभीर आरोप

Saurabh