SHANIDEV
SHANIDEV
शनिदेव से सभी डरते हैं, शनि का नाम सुनकर सबके होश उड़ जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है।
शनि वो मनुष्य के भाग्य का फैसला उसके कर्मों के हिसाब से करते हैं। वो आपके कर्मों के हिसाब से आपको सजा देते हैं और सुधरने का एक मौका भी।
अगर आप ने अपने आप में सुधार किया तो ठीक वरना शनि की सजा के लिए तैयार रहिए, क्योंकि न्याय के देवता यानि शनि किसी को नहीं छोड़ते हैं।
शास्त्रों में कहा गया है कि शनि के इस स्वरूप को सकारात्मक रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए। शनिदेव की दृष्टि अत्यंत प्रभावशाली है। कहा जाता है कि शनिदेव की सीधी नजर से सभी को बचना चाहिए। आइए आपको बताते हैं शनिदेव की कुछ खास बातें…
शनिदेव से जुड़ी खास बातें:-
  • शनिदेव का रंग काला होता है, इसलिए ये रंग उन्हें बहुत प्रिय है।
  • कथाओं के मुताबिक शनि देव का जन्मस्थान शिंगणापुर महाराष्ट्र बताया जाता है। जोकि शिरडी के पास है।
  • लोहा शनिदेव का धातु कहा जाता है।
  • शनिदेव को मृत्युलोक का स्वामी बताया गया है,
  • शनि आने पर व्यक्ति के अच्छे-बुरे कर्मों के आधार पर सजा देकर सुधारने के लिए प्रेरित करते हैं।
  • शनिदेव न्याया के देवता हैं, अन्याय हमेशा अप्रिय होता है। वे दोषी को दंड देते हैं। इसलिए उन्हें क्रूर समझा जाता है।
  • तेल, कोयला, लौह, काला तिल, उड़द, जूता, चप्पल शनिदेव की पसंदीदा चीजें मानी जाती हैं।
  • शनि का वाहन गिद्ध तथा रथ लोहे का बना हुआ है।
  • कौआ शनिदेव का प्रिय मित्र माना जाता है।
  • शनिदेव का आयुध धनुष्य बाण और त्रिशूल है।
  • समय तथा श्रमदान सर्वोत्तम दान माना जाता है
  • शनिदेव सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, आध्यात्मिक, प्रशासनिक, विद्या, व्यापार आदि में ऊंचाई देने का कार्य करते हैं।
  • शनिदेव रोगमुक्ति तथा आयुवृद्धि दाता हैं।
  • शनिदेव की दृष्टि से राजा से लेकर रंक तक सभी प्रभावित होते हैं। इसलिए डरे हुए रहते हैं।

सरायगढ़ी और नखासकोहना की जनता ने मंत्री नंदी को सुनाई पेयजल समस्या

Previous article

TGT और प्रवक्ता के आवेदन की तिथि में हुआ बदलाव, जानिए कैसे भरें फॉर्म

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured