Breaking News featured देश मनोरंजन

93वें ऑस्कर अवार्ड में एक्ट्रेस सयानी गुप्ता की ‘शेमलेस’ को मिलीं एंट्री, अगले साल मिलेगा अवॉर्ड

46362838 5f1a 408d 9401 09d070517176 93वें ऑस्कर अवार्ड में एक्ट्रेस सयानी गुप्ता की 'शेमलेस' को मिलीं एंट्री, अगले साल मिलेगा अवॉर्ड

बॉलीवुड। फिल्म इंडस्ट्री में छोटी-बड़ी कई प्रगतियोगिताएं देखने को मिलती हैं। आए दिन किसी न किसी मंच पर ये प्रतियोगिताएं होती रहती है। ऐसा ही कुछ अब देखने को मिला है, जहां एक्ट्रेस सयानी गुप्ता स्टारर ‘शेमलेस’ को भारत की तरफ से लाइव एक्शन शॉर्ट फिल्म केटेगरी में 93वें ऑस्कर अवार्ड के लिए एंट्री मिली है। 93वें ऑस्कर अवार्ड सेरेमनी अगले साल होगी। ‘शेमलेस’ 15 मिनट की एक ब्लैक कॉमेडी थ्रिलर फिल्म है। इस फिल्म ने ऑस्कर रेस में शामिल होने के लिए विद्या बालन स्टारर ‘नटखट’ को हराया है। ‘शेमलेस’ में सयानी गुप्ता के साथ एक्टर हुसैन दलाल और ऋषभ कपूर लीड रोल में हैं।

जानें क्या दर्शाया गया है इस फिल्म में-

बता दें कि फिल्म तो हर कोई बनाता है, लेकिन अवॉर्ड जितने का मौका किसी-किसी को ही मिलता है। फिल्म इंडस्ट्री में कंप्टीशन बहुत ज्यादा है। अवॉर्ड जीतने के लिए तैयारी तो सभी करते है। लेकिन उस अवॉर्ड का हकदार एक ही होता है। ऐसे में अब एक्ट्रेस सयानी गुप्ता स्टारर ‘शेमलेस’ को भारत की तरफ से लाइव एक्शन शॉर्ट फिल्म केटेगरी में 93वें ऑस्कर अवार्ड के लिए एंट्री मिली है। इसकी कहानी कीथ गोम्स ने लिखी है। कीथ गोम्स ने इस डायरेक्ट भी किया है। ‘शेमलेस’ की कहानी एक टेक्नोलॉजी की वजह से मानव आत्मा के खोने का विषय उठाती है। इसके साथ ही इसमें प्रवासी वर्ग के प्रति हकदारी, मानवता और सहानुभूति के मुद्दों पर प्रासंगिक प्रश्न उठाने का प्रयास करती है। फिल्म के बारे में सयानी गुप्ता ने कहा कि “शेमलेस’ पर मेरा एक्सपीरिएंस काफी शानदार रहा और अब हम इसे ऑस्कर के लिए भेज रहे हैं, यह बहुत ही अच्छा!

ऐसे बने ऑस्कर लिए पात्र-

इसके साथ ही कीथ एक डायरेक्टर के रूप में अद्भुत हैं और अपने कलाकारों और क्रू के साथ बहुत सॉफ्ट रवैया रखते हैं। हुसैन, निश्चित रूप से एक अच्छे दोस्त हैं। जब हमारे पास कामचलाऊ सिस्टम आदि की बात आती तो बेहतरी के लिए हमारे पास एक साइलेंट कम्यूनिकेशन और अंडरस्टेंडिंग होती। एक्टर हुसैन दलाल ने कहा कि कीथ जिस तरह से दिखाना चाहते थे। उन्होंने बेहद खास तरीके से इस अनोखी कहानी को बताया। ये कहानी समाज में छिपे हुए सत्य को बताती है। हम इस प्रक्रिया के प्रति ईमानदार रहे, इसे बनाने में मजा आया और जिसके बाद अब हम यहां हैं, ऑस्कर के लिए पात्र।

Related posts

डायरेक्शन के बाद गायिकी में हाथ आजमाएंगे करन जौहर

Anuradha Singh

चित्रकूट में नहीं थम रहा जहरीली शराब का कहर, 7 लोगों की हो चुकी है मौत

Aditya Mishra

सिंधिया को जान से मारने की धमकी देने वाले बीजेपी MLA का बेटा गिरफ्तार

rituraj