October 1, 2022 12:57 am
featured धर्म

Sawan Month 2022: आज से सावन महीना शुरू, जानिए व्रत नियम और किन बातों का रखें विशेष ध्यान

untitled design 1 35 1 165763133016x9 1 Sawan Month 2022: आज से सावन महीना शुरू, जानिए व्रत नियम और किन बातों का रखें विशेष ध्यान

Sawan Month 2022: 14 जुलाई से सावन महीना शुरू होने वाला है। ये महीना भगवान शिव को समर्पित है। पौराणिक मान्यता के अनुसार सावन के महीने में ही शिवजी अपने ससुराल गए थे जहां उनका जलाभिषेक करके स्वागत किया गया था।

इसलिए हर साल भूलोक-वासियों के लिए सावन का महीना भोलेनाथ का आशीर्वाद पाने के लिए उत्तम माना जाता है। इसे सावन माह को श्रावण मास के नाम से भी जानते हैं। इस महीने भगवान शंकर की विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की जाती है। आइए जानते हैं भगवान शिव की पूजा करने की शुभ योग और नियम….

सावन माह की शुरुआत
सावन के पहले दिन प्रीति योग का शुभ संयोग बन रहा है। प्रीति योग 15 जुलाई सुबह 04 बजकर 16 मिनट से शुरू होकर 16 जुलाई सुबह 12 बजकर 21 मिनट तक रहेगा। मान्यता है कि इस योग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है।

Sawan 2022: सावन में इस बार कितने सोमवार 4 या 5? व्रत शुरू होने से पहले दूर कर लें कन्फ्यूजन - Sawan 2022 how many somwar vrat in sawan 2022 four or

सावन महीने के पहले दिन बन रहे ये शुभ मुहूर्त

  • ब्रह्म मुहूर्त- 04:11 ए एम से 04:52 ए एम तक।
  • अभिजित मुहूर्त- 11:59 ए एम से 12:54 पी एम तक।
  • विजय मुहूर्त- 02:45 पी एम से 03:40 पी एम तक।
  • गोधूलि मुहूर्त- 07:07 पी एम से 07:31 पी एम तक।

Month of Sawan 2022 starting from this day know how many Mondays fast this time | Sawan 2022: इस दिन से शुरू हो रहा सावन का महीना, जानें इस बार कितने सोमवार

सावन माह के इन चीजों से करें परहेज

  • सावन महीने में व्यक्ति को सात्विक आहार लेना चाहिए।
  • माह में प्याज, लहसुन भी नहीं खाना चाहिए।
  • सावन मास में मांस- मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।

Maha Shivratri 2022: Why is Shivratri celebrated? What is its importance  and contribution? | Why do we celebrate maha shivratri? | IG News

इन बातों का रखें विशेष ध्यान

  • इस माह में ब्रह्मचर्य का भी पालन करना चाहिए।
  • अगर संभव हो तो सावन माह में सोमवार का व्रत जरूर करें।
  • सावन सोमवार व्रत के दौरान भगवान शिव का जलाभिषेक करें।
  • सोमवार का व्रत करने वाले लोगों को महामृत्युंजय मंत्र का जाप कम से कम 108 बार जरूर करना चाहिए।
  • शिवलिंग पर बेलपत्र, दूध, दही, घी, शहद, गंगाजल का पंचामृत बनाकर अभिषेक करें।
  • इस महीने में रुद्राक्ष धारण करना बहुत ही अच्छा माना जाता है।
  • सावन में सोमवार व्रत की कथा जरूर सुनें।

 

Sawan 2022: Date, history, significance and all you need to know about the  auspicious month of Shravan - Hindustan Times

भगवान शिव की पूजा में प्रयोग होने वाली सामग्री
पुष्प, पंच फल पंच मेवा, रत्न, सोना, चांदी, दक्षिणा, पूजा के बर्तन, कुशासन, दही, शुद्ध देशी घी, शहद, गंगा जल, पवित्र जल, पंच रस, इत्र, गंध रोली, मौली जनेऊ, पंच मिष्ठान्न, बिल्वपत्र, धतूरा, भांग, बेर, आम्र मंजरी, जौ की बालें,तुलसी दल, मंदार पुष्प, गाय का कच्चा दूध, ईख का रस, कपूर, धूप, दीप, रूई, मलयागिरी, चंदन, शिव व मां पार्वती की श्रृंगार की सामग्री आदि।

Related posts

देशभक्ति और रोमांस से भरपूर होगी जीनियस, ट्रेलर हुआ रिलीज आप भी देखें

mohini kushwaha

 नवम्बर तक पूरा हो काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरीडोर का कार्य-मुख्य सचिव

Shailendra Singh

कोहली फोर्ब्स की टॉप खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल, लियोनेल मेसी को छोड़ा पीछे

Breaking News