अयोध्या: भ्रष्टाचार के आरोपों का चंपत राय ने दिया मुंहतोड़ जवाब, राम भक्त दुष्प्रचार से बचे

अयोध्या: राम जन्म तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय पर जमीन के खरीद में हेर फेर करने का आरोप लगा है। कई विपक्षी पार्टियां इसकों मुद्दा बना रही है। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने तो चंपत राय को घोटालेबाज करार दिया है। इन आरोपों और जमीन खरीद मामले में चंपत राय ने एक प्रेस नोट रिलीज किया है जिसमें अपने उपर लग रहे आरोपों पर सफाई पेश की है।

वास्तु शास्त्र के हिसाब से ली गई है जमीन-चंपत राय

ट्रस्ट के मासचिव चंपत राय ने कहा है कि राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र की जमीन को वास्तु शास्त्र के अनुसार लिया गया है। परिसर को सभी प्रकार से सुविधापूर्ण और सुरक्षित बनाने के लिए कार्य किया जा रहा है। मंदिर के पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र को सबकी सहमति से क्रयम किया जा रहा है।

 

क्रय का कार्य पूरी पार्दशिता के साथ किया गया है-चंपत

प्रेस नोट में आगे बताया है कि बाग बिजेसी, अयोध्या स्थित 1.20 हेक्टेयर भूमि इसी प्रक्रिया के अन्तर्गत महत्वपूर्ण मन्दिरों जैसे कौशल्या सदन आदि की सहमति से पूर्ण पारदर्शिता के साथ क्रय की गई है। उपर्युक्त वर्णित भूमि अयोध्या रेलवे स्टेशन के समीप मार्ग पर स्थित एक प्रमुख स्थान है।

यह जमीन हमारे उपयोग के लिए अनुकूल थी-चंपत राय

भूमि सम्बन्ध में 2011 से वर्तमान विक्रेताओं के पक्ष में (2011, 2017,2019 ) में अनुबन्ध सम्पादित हुआ। खोजबीन करने पर यह भूखण्ड हमारे उपयोग हेतु अनुकूल पाया गया। जमीन का जो मूल्य था उसकी तुलना वर्तमान बाजार से की गई। फिर अंतिम राशि 1,423 रुपए प्रति वर्गफीट का दाम तय किया गया। जो कि पास के क्षेत्र के बाजार मूल्य से बहुत कम है।

इस जमीन को पूरी पार्दशिता के साथ खरीदा गया-चंपत

मूल्य पर सहमति हो जाने के बाद पहले के अनुबंधों को पूरा करना जरूरी था। तभी इस जमीन को सही तरीके से खरीदा जा सकता था। तीर्थ क्षेत्र के साथ अनुबन्ध करने वाले व्यक्तियों के पक्ष में भूमि का बैनामा होते ही तीर्थ क्षेत्र ने अपने पक्ष में पूर्ण तत्परता-पारदर्शिता के साथ अनुबन्ध हस्ताक्षरित किया और पंजीकृत कराया गया।

खरीद का भुगतान बैंक से हुआ है-चंपत राय

जमीन खरीदने के पहले दिन सभी भुगतान सीधे बैंक खाते से किए जाएंगे। इस की क्रय प्रक्रिया में भी इन्ही नियमों को पालन किया गया है। सरकार द्वारा लगाए गए सभी भुगतान भी किए जाएंगे।

भ्रम फैलाने वालों से राम भक्त बचे-चंपत राय

जमीन खरीद मामले में आरोप लगाने वालों को किसी भी तरह के तथ्यों की जानकारी नहीं है। जमीन खरीद मामले में भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वालों की वजह से समाज में भ्रम की स्थिति पैदा की गई है। मेंरा सभी राम भक्तों से निवेदन है कि ऐसे भ्रमित करने वालों लोगों की बातों को ना सुने। राम जन्म भूमि मंदिर का निर्माण पूरी पारदर्शिता के साथ चल रहा है। जल्द ही मंदिर निर्माण का कार्य पूरा होगा

लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर माफियाओं का काला बादल, पत्रकारों की सुरक्षा क्यों नहीं?

Previous article

सरकारी कर्मचारियों पर लिए गए एक्शन का देना होगा जवाब, आ गया नया आदेश

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured