featured राजस्थान

राजस्थान के राज्यसभा चुनाव में नया ट्विस्ट , चार सीटों पर पांच उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

Congress bjp राजस्थान के राज्यसभा चुनाव में नया ट्विस्ट , चार सीटों पर पांच उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

राजस्थान के राज्यसभा चुनाव में एक नया ट्विस्ट आ गया है। यहां राज्यसभा की चार सीटों के लिए हो रहे चुनाव में पांच उम्मीदवारों ने मंगलवार को नामांकन-पत्र दाखिल किया हैं।

यह भी पढ़े

 

मनी लॉन्ड्रिंग केस मामले में सत्येंद्र जैन 9 जून तक रहेंगे ईडी की कस्टडी में , खाएंगे घर का खाना

 

इनमें कांग्रेस के मुकुल वासनिक,रणदीप सिंह सुरजेवाला और प्रमोद तिवारी एवं भाजपा के घनश्याम तिवाड़ी के साथ ही निर्दलीय सुभाष चंद्रा ने भी नामांकन-पत्र दाखिल किया है । भाजपा ने निर्दलीय सुभाष चंद्रा को समर्थन दे दिया है। भाजपा विधायकों ने उनके प्रस्तावकों के रूप में हस्ताक्षर किया हैं। भाजपा के इस कदम से अब कांग्रेस की मुश्किल बढ़ गई है। अब तक तीन सीटों पर जीत तय मानकर चल रही कांग्रेस के रणनीतिकार निर्दलीय विधायकों से सम्पर्क साधने में जुट गए हैं।

congress flags pti 1642875829 1 राजस्थान के राज्यसभा चुनाव में नया ट्विस्ट , चार सीटों पर पांच उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

200 सदस्यीय विधानसभा में जीत के लिए प्रत्येक उम्मीदवार को 41-41 वोट चाहिए । कांग्रेस के खुद के 108 वोट हैं । इन वोटों के हिसाब से कांग्रेस के दो उम्मीदवार तो आसानी से जीत रहे हैं,उन्हे 82 वोट मिलेंगे । कांग्रेस के तीसरे उम्मीदवार के लिए पार्टी के 26 विधायकों के वोट ही बचेंगे शेष 15 वोट निर्दलीय विधायकों एवं अन्य दलों से लेने होंगे । कांग्रेस सरकार को अब तक 13 निर्दलीय, भारतीय ट्राइबल पार्टी और माकपा के दो-दो विधायकों का समर्थन था।

टाइबल पार्टी कांग्रेस से नाराज

Congress bjp राजस्थान के राज्यसभा चुनाव में नया ट्विस्ट , चार सीटों पर पांच उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन

आदिवासी को उम्मीदवार नहीं बनाने से टाइबल पार्टी कांग्रेस से नाराज है। निर्दलीय विधायक भी तीनों बाहरी नेताओं को उम्मीदवार बनाए जाने पर नाराजगी जता चुके हैं। ऐसे में इनका रूख एक-दो दिन में साफ होगा। वैसे सीएम इनके एकजुट करने में जुटे हैं। राष्ट्रीय लोकदल के एकमात्र विधायक सुभाष गर्ग सरकार में मंत्री है। उधर भाजपा के खुद के 71 वोट हैं। ऐसे में उसके उम्मीदवार तिवारी को तो 41 वोट आसानी से मिलेंगे। शेष बचे 30 वोट सुभाष चंद्रा के पक्ष में जांएगे। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के तीन वोट सुभाष चंद्रा को मिल सकते हैं। ऐसे में उनके पास 33 वोट हो जाएंगे । उन्हे आठ वोटों की जरूरत होगी। इसके लिए वे निर्दलीयों और नाराज कांग्रेस विधायकों में सेंध लगाने के प्रयास में है।

Related posts

हरियाणा के सीएम खट्टर ने की पीएम मोदी से मुलाकात, कई मुद्दों पर की चर्चा

mahesh yadav

कोरोना महामारी में रूके इसरो के कई प्रोजेक्ट, साल का पहला सैटेलाइट ‘EOS-01’ हुआ लाॅन्च

Trinath Mishra

लोकसभा की अररिया सीट और विधानसभा की भभुआ और जहानाबाद सीटों के लिए मतदान शुरू

Rani Naqvi