सितंबर 2013 में नीरव मोदी से होटल में मिले थे राहुल गांधी : शहजाद पूनावाला

नई दिल्ली : भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या के एक बयान से भारत की राजनीति में भूचाल आ गया है। जहां कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने दावा किया कि देश छोड़ने से पहले उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेतली के साथ माल्या को बात करते हुए देखा था तो वहीं नागरिक अधिकार कार्यकर्ता शहजाद पूनावाला ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 2013 में नीरव मोदी से एक होटल में मिले थे।

राहुल गांधी को दी खुली चुनौती

पूनावाला ने कहा कि 2013 में दिल्ली की एक होटल में पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपित नीरव मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच मुलाकात हुई थी। एसपीजी से इसके सबूत जुटाए जा सकते हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह राहुल गांधी को खुली चुनौती देते हैं कि वह सितंबर 2013 की कॉकटेल पार्टी में नीरव मोदी से मिलने की बात से इनकार करें। ‘इंपेरियल होटल में उन दोनों ने लंबा वक्त बिताया था! यही वह समय था जब मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को कर्ज दिया गया।

कांग्रेस ने आरोपों का किया खंडन

पूनावाला ने की कि एसपीजी के पास रिकार्ड होंगे या फिर लाई डिटेक्टेटर टेस्ट करा लीजिए। उन्होंने कहा कि यदि जेतली के माल्या से मिलने के सबूत पीएल पुनिया हैं, तो मैं कुरान की कसम खा सकता हूं और यह साबित करने के लिए लाई डिटेक्टर टेस्ट करा सकता हूं कि सितंबर 2013 को इंपीरियल होटल में नीरव मोदी की कॉकटेल पार्टी और दुल्हन परिधान कार्यक्रम में राहुल गांधी भी मौजूद थे। पूनावाला ने कहा कि यदि मैं गलत साबित हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा। हालांकि कांग्रेस ने इस दावे का खंडन कर दिया हैै।

माल्या के बयान से मचा बवाल

माल्या ने बुधवार को लंदन में एक कोर्ट से बाहर कहा था कि देश छोड़ने से पहले मैं वित्त मंत्री अरुण जेतली से मिला था और उनसे कहा था कि मैं इस मामले को सुलझाने के लिए तैयार हूं। माल्या के इस बयान के बाद  पीएल पुनिया ने दावा किया था कि उन्होंने जेतली माल्या को मिलते हुए देखा था। जिसके बाद कांग्रेस ने अरुण जेतली के इस्तीफे की मांग की थी।