Breaking News यूपी

बीबीएयू में सावित्रीबाई फूले महिला छात्रावास का शिलान्यास करेंगे राष्ट्रपति

bbau 1543838131 बीबीएयू में सावित्रीबाई फूले महिला छात्रावास का शिलान्यास करेंगे राष्ट्रपति

लखनऊ। बाबासाहेब डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय लखनऊ के नौंवे दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद विवि के सावित्रीबाई फूले महिला छात्रावास का शिलान्यास करेंगे। जिसकी सहमति राष्ट्रपति भवन से विवि को प्राप्त हो चुकी है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की गई वित्तीय सहायता से निर्मित इस महिला छात्रावास में लगभग 204 छात्रा ठहर सकती हैं। इसमें कुल 68 कमरे हैं।

दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए अनिवार्य रूप से 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट मांगी गई है। इस संबंध में विवि के हेल्थ सेंटर में दो दिवसीय कैम्प लगाया गया है। आज इस कैम्प के दूसरे दिन समारोह में शामिल होने वाले सभी विद्यार्थियों तथा शिक्षकों व कर्मचारियों ने अपना आरटीपीसीआर टेस्ट करवाया। टेस्ट की रिपोर्ट उत्तरप्रदेश सरकार की लैब रिपोर्ट वेबसाइट  https://labreports.upcovid19tracks.in/ से डाऊनलोड करके प्रिंट करनी होगी।

समारोह के मुख्य अतिथि भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद हैं। इसके मद्देनजर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था है। इस संबंध में आज जॉइंट सीपी-लॉ एंड आर्डर, डीसीपी ईस्ट, एडीसीपी ईस्ट, एसीपी कैंट ने आज सभागार का निरीक्षण किया और सुरक्षा की दृष्टिकोण से जो भी आवश्यक सुझाव थे उन्हें साझा किया। विवि परिसर में बैरिकेडिंग भी आज से लगाना शुरु हो गई है।

समारोह की तैयारियों में आज गोल्ड मेडलिस्ट अभ्यर्थी  तथा उपाधि धारकों ने आज अभ्यास किया। आज सभी अकैडमिक कॉउंसिल सदस्य, पुस्तकालय अध्यक्ष, संकाय एवं विभागाध्यक्षों की उपस्थिति में सर्वप्रथम अकादमिक शोभायात्रा निकाली, शोभायात्रा आर्मी बैंड की ताल पर आगे बढ़ी और सभागार में सभी सदस्यों ने क्रमबद्ध तरीके से प्रवेश किया और अपनी पूर्वनिर्धारित जगहों पर स्थान ग्रहण किया। आज सभी अभ्यर्थियों को भी उनके बैठने का स्थान, गेट पास तथा अंग वस्त्र से जुड़ी जानकारियां भी दी गई।

Related posts

पाकिस्तान की फेमस सूफी दरगाह में आत्मघाती हमला, 70 की मौत कई घायल

shipra saxena

दीपावली पर क्यों चढ़ाया जाता हैं भगवान को खील और मीठे खिलौनों का प्रसाद

Breaking News

ड्यूटी के दौरान तबीयत बिगड़ने से कैप्टन श्रेयांश कश्यप शहीद, 15000 फीट पर थी तैनाती

Aditya Mishra