IMG 20210721 WA0107 घर बैठे पेपरलेस खाते खोल रहा डाक विभाग

वाराणसी/लखनऊ। डाक विभाग द्वारा वाराणसी परिक्षेत्र में विशेष अभियान चलाकर एक ही दिन में 20 जुलाई को साढ़े आठ हजार से ज्यादा लोगों के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते खुलवाए गए। देर रात्रि तक चले इस अभियान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना डिजिटल बैंकिंग और वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देते हुए मात्र आधार व मोबाईल नम्बर द्वारा ये पेपरलेस खाते खोले गए।

यह जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने दी। वाराणसी परिक्षेत्र में अब तक 3.94 लाख लोग इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाता खुलवाकर घर बैठे इसकी सेवाओं का लाभ उठा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के दौरान भी इस वित्तीय वर्ष में अप्रैल से लगभग 25 हजार लोगों ने आईपीपीबी खाते खुलवाए।

IMG 20210721 WA0109 घर बैठे पेपरलेस खाते खोल रहा डाक विभाग

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेंटस बैंक के माध्यम से हर किसी के लिए घर से लेकर खेतों तक  सहजता से डिजिटल और पेपरलेस बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। सब्जी, चाय, जनरल स्टोर की दुकान वालों से लेकर खेतों में धान की रोपाई कर रहे लोगों का भी डाकियों और ग्रामीण डाक सेवक ने खाता खोला और उन्हें डिजिटल बैंकिंग से परिचित कराया।

आम जन के साथ-साथ वृद्धजनों, दिव्यांगों, बीमार व्यक्तियों से लेकर महिलाओं, किसानों, श्रमिकों  तक को डाक विभाग की इस पहल से घर बैठे डीबीटी राशि प्राप्त करने जैसी तमाम सुविधाएँ मिल रही हैं। इस खाते के माध्यम से मोबाईल व डीटीएच रिचार्ज, बिजली व पानी बिल भुगतान जैसी तमाम सुविधाएँ भी मिलेंगी।

IMG 20210721 WA0110 घर बैठे पेपरलेस खाते खोल रहा डाक विभाग

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि जहाँ कोई नहीं पहुँचता, वहाँ डाकिया पहुँच रहा है। अब डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक चलते- फिरते बैंक बन गए हैं। आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम द्वारा अन्य बैंकों में प्राप्त डीबीटी राशि या जमा राशि का भी डाकिया द्वारा लोगों को माइक्रो एटीएम से भुगतान किया जा रहा है।

लखनऊः मरीजों की जान से खिलवाड़ करने वाले 7 अस्पताल सील, अभी रडार पर हैं ये हॉस्पिटल…

Previous article

शनिवार व रविवार को लगने वाले लॉकडाउन को समाप्त करने की उठी मांग

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.