featured यूपी

पुलिस ने दो आरोपियों को रेमडीसीवीर इंजेक्शन के साथ धर दबोचा, सरगना फरार

hathkadi पुलिस ने दो आरोपियों को रेमडीसीवीर इंजेक्शन के साथ धर दबोचा, सरगना फरार

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में एक तरफ लोग कोरोना जैसी महामारी से लड़ रहे हैं वहीं कोरोनाकाल में संजीवनी बनी दवा रेमडीसीवीर इजेस्शन की कालाबाजारी भी देखी जा रही है। इस मामले में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने रेमडीसीवीर इंजेक्शन के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं गैंग का सरगना मौके से फरार हो गया है।

हनुमान मंदिर के पास से हुई गिरफ्तारी

पुलिस ने सोमवार की देर रात हनुमान मंदिर के पास से हुई इन आरोपियों की गिरफ्तारी की है। पकड़े गए आरोपियों में एक आरोपी अपोलो हॉस्पिटल का कर्मचारी बताया जा रहा है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान विकास सिंह उर्फ लक्की व अल्ताफ आलम नामक युवक के रूप में हुई है।

वहीं हरदोई निवासी अनुज इस गैंग का सरगना बताया जा रहा है जो कि इस समय फरार है। पकड़े गए आरोपी रेमडीसीवीर इंजेक्शन को महंगे दामों में बेचने का काम कर रहे थे। बंथरा पुलिस ने देर रात हनुमान मंदिर के पास से की इन आरोपियों की गिरफ्तारी की है।

कोरोना महामारी में किया जा रहा जान से खिलवाड़

बता दें कि कोरोना महामारी के बीच लोगों की जान से खिलवाड़ करने वाले बहुत से वाक्ये सामने आ रहे हैं। कहीं पर ऑक्सीजन के सिलेंडर की कालाबाजारी चल रही है तो कहीं पर रेमडेसेविर दवाई की जमाखोरी देखने को सामने आ रही है।

ये मामला इससे भी ज्यादा खतरनाक है क्योंकि इसमें रेमडेसेविर दवाई का रैपर लगाकर नकली दवाई बेची जा रही थी। पुलिस को ऐसे दरिंदों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है। कोरोना महामारी में इस समय लगातार ऐसे मामले देखने को सामने आ रहे हैं। आक्सीमीटर मशीन को भी ज्यादा दाम पर बेचने का मामला सामने देखने में आ रहा है।

Related posts

ताजमहल पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को लगाई फटकार

mohini kushwaha

मार्च में नीलाम होगा माल्या का एयरक्राफ्ट किंगफिशर एयरलाइंस

Rahul srivastava

थम गया तीसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार

kumari ashu