featured देश

पीएम मोदी ने कृषि क्षेत्र में बजट के मुद्दे पर की चर्चा, कहा- महज 7 साल में कई गुना हुआ कृषि बजट

Screenshot 2022 02 24 142355 पीएम मोदी ने कृषि क्षेत्र में बजट के मुद्दे पर की चर्चा, कहा- महज 7 साल में कई गुना हुआ कृषि बजट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज क्रिकेट में बजट के प्रावधानों को लेकर चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि यह बेहद सुखद संयोग है.आज से 3 साल पहले आज ही के दिन पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की गई थी. इस योजना के तहत 20 किसानों को बहुत बड़ा फायदा मिल रहा है. इसके तहत देश के 11 करोड किसानों को 2.45 लाख करोड़ रुपए की राशि दी जा चुके है।

केन-बेतवा लिंक परियोजना 

Per Drop More Crop पर सरकार का बहुत जोर है और ये समय की मांग भी है। इसमें भी व्यापार जगत के लिए बहुत संभावनाएं हैं। केन-बेतवा लिंक परियोजना से बुंदेलखंड में क्या परिवर्तन आएंगे, ये आप सभी भलीभांति जानते हैं, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस 21वीं सदी में खेती और खेती से जुड़े ट्रेड को बिल्कुल बदलने वाली है। किसान ड्रोन्स का देश की खेती में अधिक से अधिक उपयोग, इसी बदलाव का हिस्सा है। ड्रोन टेक्नॉलॉजी, एक स्केल पर तभी उपलब्ध हो पाएगी, जब हम एग्री स्टार्टअप्स को प्रमोट करेंगे

बजट में पराली प्रबंधन नए उपाय

Agri-Residue जिसे पराली भी कहते हैं, उसका Management किया जाना भी उतना ही जरूरी है। इसके लिए इस बजट में कुछ नए उपाय किए गए हैं, जिससे कार्बन एमीशन भी कम होगा और किसानों को इनकम भी होगी।

कृषि को आधुनिक स्मार्ट बनाने के 7 सुझाव
  • पीएम मोदी ने बजट में कृषि के आधुनिक व स्मार्ट बनाने को लेकर प्रमुख रूप से साथ नए रास्तों के सुझाव दिए गए। 
  • पहला- गंगा के दोनों किनारों पर 5 कि.मी. के दायरे में नेचुरल फार्मिंग को मिशन मोड पर कराने का लक्ष्य है। 
  • दूसरा- एग्रीकल्चर और हॉर्टीकल्चर में आधुनिक टेक्नॉलॉजी किसानों को उपलब्ध कराई जाएगी।
  • तीसरा- खाद्य तेल के आयात को कम करने के लिए मिशन ऑयल पाम को सशक्त करने पर बल दिया गया है। चौथा- खेती से जुड़े उत्पादों के यातायात के लिए पीएम गति-शक्ति प्लान द्वारा लॉजिस्टिक्स की नई व्यवस्थाएं बनाई जाएंगी।
  • पांचवां –  एग्री-वेस्ट मेनेजमेंट को अधिक organize किया जाएगा, वेस्ट टू एनर्जी के उपायों से किसानों की आय बढ़ाई जाएगी।
  • छठा –  सॉल्यूशन है कि देश के डेढ़ लाख से भी ज्यादा पोस्ट ऑफिस में रेगुलर बैंकों जैसी सुविधाएं मिलेंगी, ताकि किसानों को परेशानी ना हो।
  • सातवां – एग्री रिसर्च और एजुकेशन से जुड़े सिलेबस में skill development, human resource development में आज के आधुनिक समय के अनुसार बदलाव किया जाएगा।
7 साल में किसान लोन में ढाई गुण की बढ़ोतरी

बीते 7 सालों में हमने बीज से बाज़ार तक ऐसी ही अनेक नई व्यवस्थाएं तैयार की हैं, पुरानी व्यवस्थाओं में सुधार किया है। सिर्फ 6 सालों में कृषि बजट कई गुणा बढ़ा है। किसानों के लिए कृषि लोन में भी 7 सालों में ढाई गुणा की बढ़ोतरी की गई है

पीएम किसान सम्मान निधि 

3 साल पहले आज के ही दिन पीएम किसान सम्मान निधि की शुरुआत की गई थी। ये योजना आज देश के छोटे किसानों का बहुत बड़ा संबल बनी है। इसके तहत देश के 11 करोड़ किसानों को लगभग पौने 2 लाख करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं

Related posts

राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति ने दिवाली की दी शुभकामनाएं

Rahul srivastava

घरेलू काम के बहाने लड़कियों को ले जाकर देह व्यापार कराने वाले एक गिरोह का हुआ पर्दाफाश

rituraj

अफगानिस्तान की हार, तालिबानी सरकार?, राष्ट्रपति अशरफ गनी ने छोड़ा देश

Saurabh